स्कूल परिसर से बाहर गए तो कटेगा वेतन

औरैया। परिषदीय विद्यालय में शैक्षणिक कार्य अब टाइम एंड मोशन स्टडी के अनुसार होंगे। इसके तहत शिक्षकों को तमाम जिम्मेदारियां दी गई हैं। साथ ही उन पर नजर रखी जाएगी। इससे शिक्षक अब मनमानी नहीं कर सकेंगे। अगर किसी बहाने कोई शिक्षक स्कूल परिसर से बाहर गया तो उसका वेतन काट लिया जाएगा।


नई व्यवस्था के अनुसार विद्यालय संचालन की अवधि की दौरान खंड शिक्षा अधिकारियों की ओर से प्रधानाध्यापकों को बैठकों में बुलाए जाने की शिकायतों पर शासन ने कड़ा रूख अपनाया है। अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी है। प्रशासनिक समीक्षा का कार्यक्रम निर्धारित कर दिया है। इसका पालन शिक्षकों समेत अधिकारियों को हर हाल में करना होगा। परिषदीय विद्यालयों को अपनी विभिन्न कार्रवाईयों की अब 14 पंजिकाएं भी तैयार रखनी होंगी। उन्हें शिक्षक डायरी के अलावा उपस्थिति, प्रवेश, कक्षावार छात्र उपस्थिति, एमडीएम, समेकित नि:शुल्क सामग्री वितरण, स्टाक, आय, व्यय, चेक इश्यू, बैठक, निरीक्षण, पत्र व्यवहार, बाल गणना पंजिका अपडेट रखनी होगी।

उधर, इस संबंध में बेसिक शिक्षा अधिकारी चंदना राम इकबाल यादव का कहना है कि परिषदीय विद्यालयों में समयावधि एवं कार्य निर्धारण के संबंध में टाइम एंड मोशन स्टडी के अनुसार शैक्षणिक कार्य कराने का निर्देश शासन ने जारी किया है। इसका पालन हर हाल में करना होगा। इससे अध्यापकों की मनमानी पर रोक लगेगी।


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇