परिषदीय विद्यालयों की अब कंट्रोल रूम से होगी निगरानी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे लोकार्पण


गोरखपुर। शिक्षा विभाग की सूरत बदलने के क्रम में डीएम विजय किरन आनंद ने एक और नई पहल की है। मिशन प्रेरणा, ऑपरेशन कायाकल्प, मिड डे मील, समावेशी शिक्षा समेत परिषदीय विद्यालयों में संचालित योजनाओं की निगरानी के लिए उन्होंने विकास भवन में अत्याधुनिक कंट्रोल रूम का निर्माण कराया है। इस पर 80 लाख रुपये खर्च हुए हैं।

इसका लोकार्पण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को करेंगे। मुख्यमंत्री विकास भवन पहुंचकर कंट्रोल रूम भी देख सकते हैं। इसकी तैयारियां चल रही हैं। डीएम का कहना है कि यह देश का पहला आधुनिकतम कंट्रोल रूम होगा।

जानकारी के मुताबिक, कंट्रोल रूम से गोरखपुर सहित मंडल के सभी परिषदीय व कस्तूरबा गांधी विद्यालयों की निगरानी आसान हो जाएगी। उन्हें जरूरी सहयोग मिल सकेगा। शिक्षक अपने छात्रों की शिक्षण संबंधी समस्याओं का समाधान प्राप्त करने के साथ ही खुद की समस्याओं का भी त्वरित निदान प्राप्त कर सकेंगे। इस कंट्रोल रूम से कई सेवाएं प्राप्त होंगी। शुक्रवार को डीएम विजय किरन आनंद, सीडीओ इंद्रजीत सिंह, बीएसए रमेंद्र कुमार सिंह समेत, शिक्षा विभाग के अन्य अधिकारियों ने भी कंट्रोल रूम का निरीक्षण कर तैयारियां जांचीं।


कंट्रोल रूम में 16 शिक्षक होंगे तैनात
कंट्रोल रूम में 16 शिक्षक तैनात होंगे। इसके लिए कॉलिंग सुविधा मुहैया कराई गई है। यहां कंप्यूटर व हाई स्पीड इंटरनेट की सुविधा होगी। पावर बैकअप दिया गया है। स्मार्ट टीवी भी है। सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक कंट्रोल रूम संचालित होगा। जिले में 2,493 परिषदीय विद्यालय हैं। इन परिषदीय विद्यालयों में 600 स्मार्ट क्लास हैं। सभी ब्लॉकों में खुले कस्तूरबा गांधी विद्यालय में भी स्मार्ट कक्षाएं संचालित हो रही हैं। इन सभी स्मार्ट क्लास को जरूरी पठन पाठन सामग्री इस कंट्रोल रूम से उपलब्ध कराई जाएंगी।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇