स्कूलों के नाम पर ठगी, शुरू हुई जांच, बीएसए ने सभी प्रधानाध्यापक को किया अलर्ट


वाराणसी, शत-प्रतिशत बच्चों के नामांकन के लिए परिषदीय स्कूलों में ‘स्कूल चलो अभियान’ जारी है तो निजी विद्यालयों के नाम पर ठगी के मामले भी सामने आ रहे हैं। बेसिक शिक्षा कार्यालय में निजी स्कूलों में एडमिशन, सालभर तक फीस माफी, मुफ्त कॉपी-किताबें और बैग देने की शिकायतें पहुंच रही हैं।


मामले को संज्ञान में लेते हुए बीएसए राकेश सिंह ने जांच शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि अगर कोई स्कूल ऐसे प्रलोभन देता मिला तो कानूनी कार्रवाई के साथ मान्यता भी रद की जाएगी। शिकायतें ज्यादातर ग्रामीण क्षेत्रों से पहुंची हैं। कई शिक्षकों ने भी ऐसे मामलों से विभाग को अवगत कराया है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि अभिभावकों को एक साल तक बच्चों की मुफ्त शिक्षा के साथ खाते में पांच हजार रुपये डालने के प्रलोभन दिए जा रहे हैं। हालांकि अब तक ऐसा मामला पकड़ा नहीं गया है मगर जाहिर है कि इन प्रलोभनों के पीछे स्वस्थ मानसिकता नहीं होगी। स्कूल चलो अभियान को प्रभावित करने के लिए अवांछनीय तत्वों की यह साजिश हो सकती है। पिछले एक सप्ताह में ऐसी कई शिकायतें ग्रामीण क्षेत्रों से आई हैं।

बीएसए राकेश सिंह ने बताया कि शिकायतों को संज्ञान में लेकर सभी खंड शिक्षाधिकारियों के साथ प्रधानाध्यापकों और शिक्षकों को भी अलर्ट कर दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। ऐसे स्कूलों या लोगों का सत्यापन कराया जाएगा। ठगी या झूठे प्रलोभन के दोषी मिलने पर स्कूलों की मान्यता रद करने के साथ ही संबंधित लोगों पर मुकदमा भी दर्ज कराया जाएगा।


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇