जिले के 186 विद्यालयों में नहीं है बिजली व्यवस्था



 मऊ जिलाधिकारी अरुण कुमार की अध्यक्षता में बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत गठित जिला अनुश्रवण समिति एवं निपुण भारत की समीक्षा बैठक हुई। बैठक के दौरान बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. संतोष कुमार सिंह ने बताया कि निपुण भारत मिशन द्वारा प्राथमिक कक्षाओं में मूलभूत साक्षरता और संख्या प्राप्त करना है। वहीं इस दौरान बताया गया कि जिले के 186 परिषदीय विद्यालयों में बिजली कनेक्शन नहीं है।




उन्होंने बताया कि निपुण भारत मिशन के अंतर्गत वर्ष 2026-27 तक बाल वाटिका से कक्षा 3 तक के शत-प्रतिशत बच्चों में मूलभूत साक्षरता एवं संख्या ज्ञान का लक्ष्य प्राप्त किया जाना है। ऑपरेशन कायाकल्प के चर्चा के दौरान are शिक्षा अधिकारी ने बताया कि 23 जर्जर भवनों का निरीक्षण करते हुए नीलामी की कार्यवाही की जा रही है, तथा चार की ध्वस्तीकरण की कार्यवाही भी पूर्ण कर ली गई है जिलाधिकारी ने कायाकल्प के अंतर्गत 75 प्रतिशत से कम प्रगति वाले ब्लाकों की कार्य में तेजी लाने के सख्त निर्देश दिए।





बैठक के दौरान बिना बिजली के परिषदीय विद्यालयों का झटपट पोर्टल पर आवेदन एवं मुख्य विद्युत पोल से 40 मीटर से अधिक दूरी

वाले विद्यालयों का विद्युत विभाग द्वारा आकलन की प्रगति में 186 ऐसे विद्यालय पाए गए जिसमें बिजली की व्यवस्था नहीं है।


 


डीबीटी कार्य में पिछड़े ब्लाकों के खंड शिक्षा अधिकारियों की जिलाधिकारी ने इस कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। खंड शिक्षा अधिकारियों द्वारा विद्यालयों के निरीक्षण कार्यों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने सभी खंड शिक्षा अधिकारों को निर्धारित लक्ष्य के मुकाबले विद्यालयों का निरीक्षण करने के साथ ही इसे पोर्टल पर भी दर्ज करने के निर्देश दिए।



विद्यालयों के निरीक्षण में विकास खंड बड़रांव की स्थिति काफी खराब होने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए खंड शिक्षा अधिकारी को इसमें तेजी लाने के निर्देश दिए। 



उन्होंने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को गावों में जाकर बच्चों के अभिभावकों को बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करने का निर्देश दिए। बैठक के दौरान बेसिक शिक्षा, अधिकारी, समस्त खंड शिक्षा अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇