परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों को मिली बड़ी जिम्मेदारी ,घर -घर जा कर बच्चो का जुटायेंगे विवरण


परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों को मिली बड़ी जिम्मेदारी ,घर -घर जा कर बच्चो का जुटायेंगे विवरण


प्रयागराज: उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से शत प्रतिशत बच्चों का नामांकन स्कूलों में कराए जाने का संकल्प लिया गया है। इसके तहत स्कूल चलो अभियान का संचालन किया जा रहा है। अब शिक्षकों को बड़ी जिम्‍मेदारी मिली है। उन्‍हें हाउसहोल्ड सर्वे करने का भी निर्देश मिला है। इसके तहत प्रत्येक शिक्षक को घर-घर जाना है और बच्चों का विवरण जुटाना है। यानी कितने बच्चे विद्यालय जा रहे हैं और कितने स्कूल छोड़ चुके हैं। इसका विवरण जुटाते हुए अभिभावकों को प्रेरित करना होगा कि बच्चों को विद्यालय जरूर भेजें।

परिषदीय स्‍कूलों में संसाधन बढ़ाने व पठन-पाठन स्‍तर उठाने की कोशिश

प्रयागराज के बीएसए प्रवीण कुमार तिवारी ने बताया कि परिषदीय स्कूलों में संसाधन बढ़ाते हुए पठन-पाठन का स्तर भी उठाना है। क्षेत्र के सभी बच्चों को शिक्षा से जोड़ने का भी लक्ष्य रखा गया है। इसी क्रम में अध्यापकों को प्रतिदिन अपने विद्यालय क्षेत्र के गांव या मोहल्ले में अभिभावकों से संपर्क करना है। तभी हाउसहोल्ड सर्वे पूरा होगा। जिन स्कूलों में कुछ संसाधनों की कमी हो वहां समुदाय के सहयोग से विद्यालय के लिए साधन जुटाए जाएंगे।

अभिभावकों संग बैठक करेंगे शिक्षक

बीएसए बोले कि स्वच्छता पोर्टल पर सभी परिषदीय व मान्यता प्राप्त स्कूलों को फार्म भी सबमिट करना है। स्कूलों में पुस्तकालय को समृद्ध बनाने के साथ विद्यार्थियों का कार्ड बनाया जाएगा। उनमें पुस्तक पढ़ने की ललक जगाने के लिए शिक्षकों को सक्रियता बढ़ानी होगी। प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापक सामंजस्य बनाकर यह कार्य करेंगे। अभिभावकों के साथ भी अनिवार्य रूप से बैठक की जाएगी। प्रत्येक विद्यालय में पुरा छात्रों का सम्मान किया जाएगा। निजी विद्यालयों की तरह परिषदीय स्कूलों में भी वार्षिकोत्सव मनाया जाएगा।


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇