जिले के 331 परिषदीय स्कूलों में बिजली नहीं, तपती गर्मी में पढ़ाई कर रहे बच्चे


 तपती गर्मी में विद्यालय आ रहे विद्यार्थियों को हो रही परेशानी 
बस्ती। परिषदीय विद्यालयों में कान्वेंट की तर्ज पर सुविधा देने के लिए लाखों रुपये खर्च करके ऑपरेशन कायाकल्प योजना के तहत 19 पैरामीटर को पूरा कराना था। इनमें सबसे महत्त्वपूर्ण विद्यालयों में बिजली की आपूर्ति शुरू करानी थी। बावजूद इसके अब भी नगर और ग्रामीण क्षेत्र के 331 परिषदीय विद्यालय ऐसे हैं, जिनमें बिजली नहीं है। इनमें से कई विद्यालयों में बिजली नहीं पहुंच सकी है, कई में कनेक्शन काट दिए गए हैं। तपती गर्मी में बिना पंखे के बच्चों की पढ़ाई करनी पड़ रही है।



जिले में परिषदीय विद्यालयों की संख्या 2071 है। उनमें 317 कंपोजिट 1430 प्राथमिक और 324 उच्च प्राथमिक विद्यालय संचालित हो रहे हैं। इन विद्यालयों में लगभग दो लाख से अधिक बच्चों का नामांकन है। 1740 विद्यालयों में विद्युतीकरण कराया गया है। 331 अब भी इससे बाकी हैं। दो वर्षों से कोरोना संक्रमण के कारण विद्यालय बंद थे। फोरोना संक्रमण समाप्त होने के बाद विद्यालय खुल गए। उधर बिजली विभाग ने बकाया बिल के चलते कई स्कूलों की काट दी गई है। हालांकि कुछ विद्यालयों का बिल जमा कर आपूर्ति शुरू कराई गई। जिन विद्यालयों में बिजली कनेक्शन नहीं है, उनमें पढ़ने वाले बच्चे गर्मी में परेशान हैं।
गौर क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय भैसा राजा में बिजली कनेक्शन तो है लेकिन कमरों पंखे नहीं है। इस कारण विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चे पसीना से तरबतर होते हैं। शिक्षक भी इस स्थिति में बच्चों को खुले बरामदे में बैठाने के लिए विवश है। वहीं, बनकटी क्षेत्र में पूर्व माध्यमिक विद्यालय पकड़ी चंद्रा में कमरे में बोर्ड, बिजली का कनेक्शन है, लेकिन दुर्भाग्य की बात यह है कि अब तक कनेक्शन नहीं हो पाया है। उसके चलते बच्चों को गर्मी में परेशानी हो रही है। इसी क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय बैजीपुर में 55 बच्चे पंजीकृत हैं। यहां भी बिजली का कनेक्शन नहीं लगा है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇