ARP मूल विद्यालय से ही संभालेंगे अपना दायित्व

आगरा। शिकायतों के आधार पर जगनेर ब्लॉक के खंड शिक्षा अधिकारी ने ब्लॉक के सभी एकेडमिक रिसोर्स पसन (एआरपी) को बीआरसी (ब्लाक रिसोर्स सेंटर) से कार्य मुक्त कर दिया है। वह अपने मूल विद्यालय से ही अपने दायित्वों का निर्वहन करेंगे। बीईओ अमरेश कुमार ने 25 अप्रैल को एआरपी को बीआरसी से मूल विद्यालय के लिए कार्य मुक्त किए जाने का आदेश किया था। इस आदेश में यह स्पष्ट नहीं किया गया था कि एआरपी अपने दायित्व को संभालेंगे या नहीं। बुधवार को बीईओ के आदेश के विरोध में जगनेर ब्लॉक के एआरपी ने डायट प्राचार्य कार्यालय पहुंचकर विरोध प्रदर्शित किया। एआरपी का कहना था कि उनका चयन उच्च स्तरीय समिति ने किया है, मूल विद्यालय में वापस करने का अधिकारी चयन समिति को है। डायट प्राचार्य ने बीईओ से बात की। इसके बाद बीईओ ने 27 अप्रैल को फिर से आदेश जारी किया आदेश में कहा गया है कि बीआरसी से कार्य मुक्त किए गए एआरपी मूल विद्यालय में रहकर अपने दायित्वों का निर्वहन करेंगे विरोध प्रदर्शन में डायट मेंटर यशपाल सिंह,






डॉ. अनुराम शर्मा, एआरपी अनिल कुमार, कर्ण सिंह आदि शामिल रहे। शिक्षक संघ ने की थी शिकायत उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलामंत्री बृजेश दीक्षित का कहना है कि संगठन की ओर से एआरपी की शिकायत की गई थी। एआरपी अधिकारी बनकर शिक्षकों का उत्पीड़न कर रहे थे। संगठन ने अन्य ब्लॉक में भी शिकायत की है। उच्च शिक्षा अधिकारियों से भी साक्ष्यों के साथ शिकायत की जाएगी

primary ka master, primary ka master current news, primarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇