कस्तूरबा विद्यालय में अनाज खत्म, छात्राओं को भेजा घर, स्पष्टीकरण तलब


संतकबीरनगर। कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में अनाज खत्म हो गया है। यहां की 15 छात्राओं को घर भेज दिया गया है।

विद्यालय में 100 छात्राएं नामांकित हैं। यह खुलासा शनिवार को बीएसए के निरीक्षण में हुआ। उन्होंने जिला समन्वयक बालिका और वार्डेन से स्पष्टीकरण तलब किया है। कस्तूरबा विद्यालय में भी खामियां मिली।

बीएसए अतुल कुमार तिवारी ने बताया कि कस्तूरबा विद्यालय बीलों के निरीक्षण में सीसीटीवी बंद मिला बायोमैट्रिक व वाटर कूलर 'खराब था। मेन्यू के अनुसार भोजन नहीं बना था। वाहन ने बताया कि अनाज नहीं है, इसलिए 15 छात्राओं को घर भेज दिया गया है।




उन्होंने बताया कि उपस्थिति पंजिका में छात्राओं की उपस्थिति को डाट कर छोड़ दिया गया था। वार्डेन ने विद्यालय में 100 नामांकन बताया जबकि रजिस्टर में 55 छात्राओं के नाम दर्ज हैं प्रेरणा पोर्टल पर 80 छात्राओं की उपस्थिति दर्ज थी। इससे यह प्रतीत होता है कि नामांकन में अनियमितता बरती जा रही है। उन्होंने बताया कि कस्तूरबा विद्यालय सांथा के निरीक्षण में भी अनियमितता मिली। उपस्थिति पंजिका में 84 छात्राएं नामांकित हैं। मौके पर 38 छात्राएं मिलीं। जबकि प्रेरणा पोर्टल पर 46 छात्राओं की उपस्थिति दिखाई गई थी।

बीएसए ने बताया कि अनुपस्थित छात्राओं के कालम को भरा नहीं गया था। विद्यालय में मेन्यू के अनुसार भोजन नहीं बना था। विद्यालय के चारों तरफ घास फूस उगे थे। विद्यालय में लगा वाटर कूलर खराब था एक छात्र कई दिन पहले विद्यालय से बाहर जाने का उल्लेख है, पर उसके नाम के आगे पो दर्ज किया गया था।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇