कक्षाएं पांच और कमरे सिर्फ दो, पढ़ाई कैसे हो?


 दोघट पांच कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मात्र दो कमरे है। ऐसे में विद्यार्थियों को विद्यालय के मैदान में बैठकर पढ़ाया जा रहा है। भीषण गर्मी में छात्र-छात्राओं को खुले में पढ़ाई करने में परेशानी हो रही है।



निरपुड़ा के प्राथमिक विद्यालय नंबर एक में कक्षा एक से पांचवीं तक 40 छात्र-छात्राओं का पंजीकरण है। इन छात्र-छात्राओं को पढ़ाने की जिम्मेदारी दो शिक्षकों पर है। विद्यालय में केवल दो कक्ष है। कक्ष के अभाव में शिक्षक कुछ छात्र-छात्राओं को बाहर मैदान में बैठाकर पढ़ाई कराते हैं। गर्मी अधिक होने के कारण छात्रों को मैदान में बैठकर पढ़ाई करने में परेशानी होती है मगर कक्ष के अभाव के कारण उन्हें मैदान में बैठकर पढ़ाई करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

गर्मी में सिर्फ बाहर बैठकर पढ़ना ही नहीं पड़ रहा, बल्कि पेयजल की समस्याओं से भी जूझना पड़ रहा है। स्कूल में लगा वाटर कूलर और हैंडपंप भी खराब पड़ा है। प्रधानाध्यापक अमित कुमार का कहना है कि स्कूल में दो कमरे हैं और पांच क्लास हैं। एक-एक कमरे में दो-दो कक्षा के छात्रों को बैठाकर पढ़ाई कराई जाती है और अन्य बच्चों को मैदान में बैठाकर पढ़ाई कराई जाती है। 




स्कूल में भवन की कमी के बारे में अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। स्कूल का हैंडपंप ठीक कराने के लिए ग्राम प्रधान को कहा गया है, जल्द ही पेयजल की समस्या को दूर कराया जाएगा।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇