रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकडे़ गए थे बीईओ, शासन ने किया निलंबित

आगरा। प्रभारी बीएसए का अतिरिक्त प्रभार संभालने वाले बेसिक शिक्षा विभाग के शमसाबाद ब्लॉक में तैनात खंड शिक्षा अधिकारी ब्रजराज सिंह को शासन ने निलंबित कर दिया गया है। उन्हें विजिलेंस की टीम ने रंगे हाथों रिश्वत लेते हुए पकड़ा था। इसके बाद से ब्रजराज सिंह 27 अक्टूबर से जेल में बंद है। नियमानुसार 48 घंटे के अंदर उनका निलंबन हो जाना चाहिए था, लेकिन विभागीय हीलाहवाली के चलते उनका निलंबन नहीं हो पा रहा था। 'जनसंदेश टाइम्स' ने दो दिसंबर के अपने अंक में उनके निलंबन नहीं पर सवाल उठाए थे। इसके बाद अफसरों की नींद टूटी और शासन ने संज्ञान लेते हुए उन्हें निलंबित कर दिया गया है। अपर शिक्षा निदेशक ललिता प्रदीप ने बीईओ ब्रजराज सिंह के निलंबन का आदेश जारी किया है। हालांकि स्थानीय स्तर पर विभागीय अधिकारियों ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है। 





बीएसए सतीश कुमार का कहना है कि दो बार निलंबन का प्रस्ताव शासन को भेजा जा चुका है। लेकिन बीईओ ब्रजराज सिंह के निलंबन की विभाग को सूचना अब तक नहीं मिली है। विदित हो कि प्राथमिक विद्यालय लहर पट्टी ब्लॉक शमसाबाद के प्रधानाध्यापक भैरोनाथ सिंह ने जीपीएफ से पांच लाख रुपये ऋण के लिए आवेदन किया था। खंड शिक्षा अधिकारी ब्रजराज सिंह ने उनसे जीपीएफ से पांच लाख रुपये ऋण स्वीकृति के लिए रकम मांगी थी। जिसकी शिकायत करने पर 27 अक्टूबर 2021 को विजीलेंस ने उन्हें रिश्वत लेते हुए धर-दबोचा था।



उसी समय से वह जेल में निरुद्ध हैं। एक महीने 11 दिन बाद उनका शासन स्तर से निलंबन हुआ है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇