भ्रष्टाचार में 3 लिपिकों के खिलाफ डीएम ने शुरू की कार्रवाई


वाराणसी,। विश्वनाथ मंदिर न्यास कार्यालय में तैनात वरिष्ठ लिपिक अरुण कुमार मिश्र, लिपिक संजय चतुर्वेदी और निलम्बित कम्प्यूटर सहायक शिवभूषण द्विवेदी के खिलाफ मिली भ्रष्टाचार की शिकायतों की डीएम कौशलराज शर्मा ने जांच शुरू कर दी है। उन्होंने कहा है कि तीनों कर्मचारियों के विरुद्ध कोई भी व्यक्ति महत्वपू्र्ण जानकारी व साक्ष्य देना चाहते हैं तो बंद लिफाफे में कैम्प कार्यालय में 23 सितम्बर तक जमा कर दें। अथवा dmvar18@gmail.com पर मेल कर दें।

डीएम ने बताया कि इन लिपिकों के खिलाफ विभिन्न प्रकार की मिली शिकायतों की जांच मंडलायुक्त ने सौंपी है। जिसमें भ्रष्टाचार, आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करना, न्यास व मंदिर से जुड़े हुए वित्तीय दायित्वों का नाजायज लाभ उठाकर धनराशि की हेराफेरी करना, महत्वपूर्ण पत्रावलियों को गायब करना, बाहरी व्यक्तियों के नाम से कम्प्यूटर पर शिकायतें टाइप करना, मंदिर व न्यास की प्रतिष्ठा के विरुद्ध कार्य करना, दायित्वों का निर्वहन ना करना, कार्यालय समवावधि में मंदिर परिसर में उपस्थित रहकर लोगों को दर्शन कराना आदि शिकायतें शामिल हैं। बता दें कि कम्प्यूटर सहायक शिवभूषण द्विवेदी के खिलाफ मनीआर्डर के चढ़ावे के घालमेल के मामले में चौक थाने में मुकदमा भी दर्ज कराया गया है। तबसे वह निलम्बित चल रहा है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇