तीन दिन के अंदर बनवाएं एमडीएम नहीं तो प्रधानाचार्य पर होगी कार्रवाई


बदायूं। सहायता प्राप्त और राजकीय स्कूल में छह से आठ तक के पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के लिए अब कॉलेज द्वारा ही एमडीएम बनाया जाएगा। इसको लेकर डीआईओएस ने साफ निर्देश दिए हैं। उनका कहना है कि छात्र छात्राओं के हित को ध्यान में रखकर ऐसा किया जाना सही है। उन्होंने कहा कि जो संबंधित कॉलेज स्वयं एमडीएम नहीं बनवाएंगे। उनके प्रधानाचार्य के वेतन रोकने की कार्रवाई की जाएगी।

शहर के सिंगलर गर्ल्स इंटर कॉलेज में शाम को शासकीय सहायता प्राप्त (एडेड) और राजकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचायों के साथ डीआईओएस की बैठक में कहा कि कुछ प्रधानाचार्यों ने एमडीएम को पूर्व की तरह एनजीओ से संचालित किए जाने का मुद्दा उठाया। कहा कि एनजीओ के माध्यम से एमडीएम वितरण होगा, इससे पढ़ाई पर असर नहीं पड़ेगा वहीं डीआईओएस ने उनकी समस्याएं सुनी। उन्होंने अन्य प्रधानाचार्यों से बात की। उसके बाद में निर्देश दिए है कि तीन दिन के अंदर सभी प्रधानाचार्य अपने-अपने यहां पर एमडीएम बनवाना शुरू करें। अन्यथा की स्थिति में वह कार्रवाई के लिए तैयार रहें। साथ ही एमडीएम जिला समन्वयक हिना खान को निर्देश दिए कि प्रधानाचार्य को एमडीएम संबंधित चीजें उपलब्ध कराई जाय।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇