इस राज्य के विश्वविद्यालयों में 4000 शिक्षकों की भर्ती 10 दिसंबर तक, विज्ञप्ति जल्द, जानें कैसे होगा चयन

बिहार के शिक्षा मंत्री डॉ. चंद्रशेखर ने सोमवार को कॉलेज ऑफ कॉमर्स आर्ट्स एंड साइंस पटना में महाविद्यालय के 74वें स्थापना दिवस समारोह में कहा कि विश्वविद्यालयों में 4000 शिक्षकों की नियुक्ति 10 दिसंबर तक कर ली जाएगी। प्राइमरी, माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों की कमी को दूर किया जाएगा। सातवें चरण के लिए जल्द विज्ञप्ति जारी की जाएगी। सीईटी से शिक्षकों की नियुक्ति होगी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि देश को विश्व गुरु बनाने के लिए समरस समाज की स्थापना करनी होगी। आरोप लगाया कि केंद्र सरकार समग्र शिक्षा की 40 प्रतिशत राशि भी सही से उपलब्ध नहीं करा रही है। कॉलेज ऑफ कॉमर्स के प्रधानाचार्य ने जो मांगें रखी हैं, उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी।



मौके पर खान और भूतत्व मंत्री डॉ. रामानंद यादव ने कहा कि आज हम सब महान शिक्षाविद डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन और कॉलेज के संस्थापक प्रोफेसर इंदु शेखर झा को नमन कर रहे हैं।

जनवरी तक सत्र हो जाएंगे नियमित वीसी
कुलपति प्रो. आरके सिंह ने कहा कि मगध विवि में परीक्षा परिणाम लंबित है, उसे जारी करने में कठिनाई आ रही हैं लेकिन उसे भी दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं पाटलिपुत्र विवि में जनवरी तक सभी पाठ्यक्रमों के सत्र नियमित कर दिए जाएंगे।

महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. इंद्रजीत प्रसाद राय ने सभी सम्मानित अतिथियों का स्वागत किया। समारोह के दौरान प्रो. उषा सिन्हा की पुस्तक आंखों में आकाश सहित प्रो. रूपेश कुमार और डॉ. एस एन आर्या की पुस्तक का लोकार्पण किया गया। मंच संचालन प्रो. श्रीकांत ने किया। जबकि धन्यवाद ज्ञापन प्रो. सांत्वना रानी ने किया।


कॉलेज और विश्वविद्यालय छात्रों के लिए सेंट्रल सेक्टर स्कॉलरशिप स्कीम के ऑनलाइन आवेदन शुरू
समारोह में छात्र संघ के सचिव हिमांशु यादव ने कहा कि सभी कॉलेजों में दस वर्षों की वित्तीय जांच करानी चाहिए। वोकेशनल कोर्स के फंड का गलत इस्तेमाल होता है। पूर्व प्राचार्य बबन सिंह यादव को कॉलेज में आमंत्रित किया जाना चाहिए था। छात्रों की समस्याओं को दूर करना चाहिए। वहीं, विकास बॉक्सर ने कॉलेज में परीक्षा भवन व सेमिनार हॉल बनाने की मांग की।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇