मुख्यमंत्री ने यह पांच पोर्टल किए लांच


मुख्यमंत्री ने ‘पहुंच’ पोर्टल से कक्षा नौ से 12 तक के स्कूलों की स्थिति का पता चलेगा। कक्षा-10 तथा कक्षा-12 के बाद कॅरिअर में मदद करने के लिए ‘पंख’ पोर्टल है। ‘प्रज्ञान’ ई लाइब्रेरी पोर्टल है। ‘परख’ के माध्यम से स्कूलों की ग्रेडिंग होगी और ‘पहचान’ के माध्यम से हर स्कूल का वेबपेज देखा जा सकेगा। 1. पहुंच इस पोर्टल की मदद से स्कूल खोलने के लिए क्षेत्र चुनने में मदद मिलेगी।

स्कूलों की मैपिंग के लिए पहुंच पोर्टल को विकसित किया गया है। इससे माध्यमिक विद्यालयों की स्थापना की व्यवस्था और अधिक पारदर्शी होगी।

पंख विद्यार्थियों के कॅरिअर गाइडेन्स के लिए यह पोर्टल बनाया गया है। विद्यार्थी कॉलेज, छात्रवृत्ति, कौशल विकास कार्यक्रम, इंटर्नशिप और शिक्षा के विषय में उपलब्ध विकल्पों के बारे में बेहतर सलाह ले सकेंगे। राजकीय व एडेड के लिए निशुल्क सलाह दी जाएगी।
प्रज्ञान ई लाइब्रेरी पोर्टल को प्रज्ञान नाम दिया गया है। यह एप में भी उपलब्ध है। ई-पुस्तकों के विशाल संग्रह के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं, उद्यमिता व स्टार्टअप, एनआईसी ई-ग्रन्थालय एवं उप्र लाइब्रेरी नेटवर्क की जानकारी उपलब्ध है।
परख किस राजकीय विद्यालय में क्या संसाधन है, वह इस पोर्टल पर दिखेगा। शिक्षण कार्य की प्रगति, शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की उपस्थिति और भौतिक संसाधनों की उपलब्धता का ऑनलाइन मॉनिटरिंग व राजकीय विद्यालय की ग्रेडिंग इससे होगी।
पहचान यूपी बोर्ड द्वारा 20,941 स्ववित्त पोषित मान्यता प्राप्त, 4,512 सहायता प्राप्त और 2,357 राजकीय विद्यालयों की जानकारी के लिए हर स्कूल का वेबपेज बनाया गया है। इस वेबपेज पर स्कूल में छात्र पंजीकरण, स्टाफ विवरण, सुविधाएं, विविध क्षेत्रों में प्रदर्शन, परीक्षा परिणाम और विशिष्ट उपलब्धि इत्यादि की जानकारी मौजूद है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇