मिड-डे मिल योजना में मिली अनियमितता


 पडरौना महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरण आनंद के निर्देश पर मंगलवार को जिले में पहुंची सहायक शिक्षा उपनिदेशक परियोजना लखनऊ की दो सदस्यीय टीम बृहस्पतिवार को जांच पूरी कर वापस लौट गई।






टीम ने दुदही बीआरसी समेत निपुण लक्ष्य की प्रगति, कायाकल्प प्रगति समेत शासन की अन्य योजनाओं को जांच की। इसमें मिली कमियों को सुधार करने के निर्देश देते हुए और बेहतर परिणाम लाने के लिए जरूरी सुझाव दिए।



कंपोजिट प्राथमिक विद्यालय गोरिया व डाक नगर में मिड-डे मिल योजना में अनियमितता मिलने पर दोनों विद्यालय के प्रधानाध्यापक और दो एआरपी तथा दुदही बीआरसी में जेनरेटर, लैपटाप, माइक को खरीद नहीं होने पर धनराशि की रिकवरी के लिए तत्कालीन बीईओ के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की। हालांकि, इस मामले में बीएसए और जांच टीम के लोग कुछ कहने से बचते रहे।




इस संबंध में बीएसए कमलेंद्र कुमार कुशवाहा ने बताया कि महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरण आनंद के निर्देश पर मंगलवार को जिले में जांच टीम आई थी टीम ने गोपनीय तरीके से भी जांच की। टीम  से जुड़े लोग जांच रिपोर्ट शासन को सोपेंगे। 



इस संबंध में जांच टीम से जुड़े विशेषज्ञ, राज्य परियोजना कार्यालय लखनऊ अवनीश कुमार तिवारी ने



बताया कि शासन के निर्देश पर जिले के विभिन्न परिषदीय स्कूल, कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय और बीआरसी कार्यालय की जांच की गई है। जांच के दौरान निपुण भारत, काकल्प योजना, एमडीएम समेत अन्य बिंदुओं पर जांच की गई है। जिन बिंदुओं पर कमियां मिली हैं, उसे दूर करने के निर्देश दिए गए हैं।



इसके अलावा कुछ स्थानों पर संबंधित को शिक्षण समेत अन्य व्यवस्था में और बेहतर परिणाम लाने के लिए सुझाव दिए गए हैं। निरीक्षण आख्या शासन को सौंपी जाएगी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇