शिक्षक-कर्मचारियों का वेतन 10 फीसदी बढ़ा, छह सौ से तीन हजार रुपये बढ़ेगी सैलरी


उत्तर प्रदेश के कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय के शिक्षकों व कर्मचारियों को केंद्र व प्रदेश सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। इन विद्यालय के शिक्षकों व कर्मचारियों के वेतन में नए शैक्षिक सत्र 2024-25 में 10 फीसदी वृद्धि पर सहमति दे दी गई है। यह एक अप्रैल से प्रभावी होगी। इससे शिक्षकों-कर्मचारियों के वेतन में छह सौ से तीन हजार रुपये तक की वृद्धि हो जाएगी। इससे पहले वर्ष 2018 में वेतन वृद्धि हुई थी।



प्रदेश में 746 कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय हैं। इनमें औसतन 10 से 15 स्टाफ तैनात हैं। इसमें शिक्षक, पार्ट टाइम शिक्षक, वार्डन, लेखाकार, खाना बनाने वाले, चौकीदार, चपरासी आदि शामिल हैं। पिछले दिनों केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की प्रोजेक्ट एडवाइजरी बोर्ड (पीएबी) की बैठक में उत्तर प्रदेश के 10 फीसदी वेतन वृद्धि के प्रस्ताव को हरी झंडी दे गई है। इससे करीब 11 हजार कर्मचारी लाभान्वित होंगे।






पद- पहले वेतन- अब वेतन


वार्डेन - 27500 - 30250

फुल टाइम शिक्षक -22 हजार - 24200

उर्दू शिक्षक 14 हजार -16408


लेखाकार -11 हजार - 13673



हेड कुक को 8577, सहायक कुक को 6433 और अन्य सपोर्ट स्टाफ (चौकीदार) को 6498 वेतन मिलेगा।




कस्तूरबा गांधी बालिका शिक्षक-शिक्षणेत्तर यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष अतुल कुमार बंसल का कहना है कि आखिरी बार 2018 में आंशिक वृद्धि हुई थी। सरकार ने कई साल बाद कस्तूरबा के कर्मचारियों की सुध ली है, लेकिन यह बेसिक विद्यालयों की अपेक्षा अभी भी कम है। यहां भी वार्डेन की जगह प्रधानाध्यापिका की तैनाती की जाए तो व्यवस्था और बेहतर होगी।