डीबीटी कार्य में शिथिलता पर 45 प्रधानाध्यापकों का वेतन रोका

महराजगंज। डायरेक्ट बेनीफिशरी ट्रांसफर (डीबीटी) मामले में शिथिलता बरतना परिषदीय व सहायता प्राप्त 45 विद्यालयों के प्रधानाध्यापक अथवा प्रभारी प्रधानाध्यापक को भारी पड़ गया। बेसिक शिक्षा विभाग ने सभी का वेतन रोकते हुए तीन दिन के अंदर सभी बाकी कार्यों को पूरा कराए जाने का निर्देश दिया है।






जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओम प्रकाश यादव ने सहायता प्राप्त विद्यालयों में शिथिलता बरतने वाले जिन नौ प्रधानाध्यापकों का वेतन रोका है उसमें बृजमनगंज व नौतनवां ब्लॉक के दो-दो, धानी के तीन तथा घुघली व परतावल ब्लॉक के एक एक विद्यालय हैं। इसी प्रकार परिषदीय विद्यालयों के जिन 36 प्रधानाध्यापकों का वेतन रोका गया है उसमें बृजमनगंज ब्लॉक के छह, लक्ष्मीपुर ब्लॉक का एक, मिठौरा ब्लॉक के तीन, नौतनवा ब्लॉक के चार, निचलौल ब्लॉक के 12, पनियरा ब्लॉक के छह, परतावल ब्लॉक का एक तथा सदर ब्लॉक के तीन विद्यालय हैं। बीएसए ने सभी प्रधानाध्यापकों को तीन दिन के अंदर डीबीटी का कार्य पूरा कराने का निर्देश दिया है। यह भी कहा है कि कार्य पूरा कर एक सप्ताह के अंदर पूर्णता का प्रमाणपत्र न दिए जाने की दिशा में जिम्मेदारों के विरुद्ध कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇