UPTET 2021: यूपीटीईटी दोबारा कराने की संभावित तारीख आई सामने, यहां चेक करें पूरी डिटेल

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2021 का प्रश्नपत्र लीक होने के बाद दोबारा इस परीक्षा को कराने के लिए प्रक्रिया तेज कर दी गई है। अनिल भूषण चतुर्वेदी ने उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी (पीएनपी) सचिव का पदभार संभाल लिया है। वह पहले भी इस पद पर रह चुके हैं। कर्मचारियों के साथ कामकाज की समीक्षा करने के बाद वह नई तैयारियों में जुट गए हैं। 28 नवंबर को यूपीटीईटी शुरू होने के पहले ही प्रश्नपत्र आउट होने से उपजे विकट हालात को देखते हुए वह तैयारियों की फिर से परखेंगे। उसके बाद नए सिरे से कार्ययोजना बनाएंगे। नकल विहीन परीक्षा कराना उनकी प्राथमिकता होगी।






मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपीटीईटी की रद परीक्षा एक माह के अंदर कराने का ऐलान किया है, ये अवधि 28 दिसंबर को पूरी हो रही है। पेपर लीक मामले में जिस तरह से परीक्षा संस्था के सचिव व प्रश्नपत्र छापने वाली एजेंसी पर ताबड़तोड़ कार्रवाई हुई है उससे इम्तिहान एक माह में करा पाना अब बड़ी चुनौती है। बदली परिस्थिति में नए सिरे से प्रश्नपत्र ही नहीं, प्रश्नपत्र छापने की नई एजेंसी का भी चयन होगा। दोनों अहम अफसर भी बदले जा चुके हैं, ऐसे में परीक्षा की नई तारीख 10 जनवरी के आसपास हो सकती है। यह जरूर है कि परीक्षा तारीख का ऐलान जल्द किया जाएगा।


यूपीटीईटी 28 नवंबर को प्रस्तावित रही है, परीक्षा के एक दिन पहले ही प्रश्नपत्र लीक हुआ, सरकार ने पहली पाली की परीक्षा शुरू होने के कुछ देर बाद ही दोनों पालियों का इम्तिहान रद कर दिया था। इस मामले में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने साल्वर गिरोह के करीब तीन दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया है और उनके पास से प्रश्नपत्र व साल्व पेपर आदि बरामद किया है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव संजय उपाध्याय को निलंबित किया जा चुका है और पेपर लीक में संलिप्तता मिलने पर उन्हें गिरफ्तार किया गया है।


सरकार ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव के लिए अनिल भूषण चतुर्वेदी व परीक्षा नियंत्रक मनोज कुमार अहिरवार को भेजा है। अब वे नए सिरे से प्रश्नपत्र तैयार करा रहे हैं। प्रश्नपत्र छापने के लिए नई एजेंसी का चयन करेंगे। इसके अलावा परीक्षा केंद्र निर्धारण व अन्य प्रक्रिया पूरी की जाएगी। इन कार्यों में समय लगना तय है। पीएनपी सचिव के पद पर 10 सितंबर 2018 से 29 जून 2021 तक रह चुके अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि यूपीटीईटी के लिए पूर्व में की गई तैयारियों को परखा जाएगा। दिसंबर में परीक्षा कराने के सवाल पर सीधा उत्तर तो नहीं दिया, लेकिन बताया कि प्रश्नपत्र तैयार करने, उसे छपवाने के साथ ही परीक्षा केंद्रों का स्तर फिर से परखने में समय लगेगा।

बता दें कि परीक्षा में 21.65 लाख अभ्यर्थी पंजीकृत हैं। यह सब होने में अब परीक्षा 10 जनवरी के आसपास कराने की तैयारी है। इतना ही नहीं केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी सीटीईटी भी 16 दिसंबर से शुरू हो रही हे, जो 15 जनवरी तक चलनी है। इस वजह से भी यूपीटीईटी की तारीख आगे बढ़ाना विभाग की मजबूरी होगी। नई तारीख का ऐलान इसी पखवारे होने की पूरी उम्मीद है। बेसिक शिक्षा मंत्री डा. सतीश द्विवेदी ने बताया कि यूपीटीईटी की परीक्षा के लिए विभाग तेजी से जुटा है। परीक्षा संस्था के दो अहम अफसर बदल गए हैं इसलिए तैयारियां पूरा करने में समय लगेगा। उन्होंने कहा कि परीक्षा की नई तारीख जनवरी में संभावित है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇