बिना शिक्षण कार्य के वेतन और एरियर लेने का आरोप, होगी रिकवरी



 पडरीना नगर के जमालपुर में संचालित मदरसा में तैनात प्रधानाचार्य, दो शिक्षकों और एक लिपिक को निलंबित कर दिया गया है। इन पर बिना शिक्षण कार्य के वेतन और एरियर लेने का आरोप है। शासन के निर्देश पर उन्हें दिए गए वेतन और एरियर की रिकवरी


भी होगी। शासन की तरफ से जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को भेजे गए पत्र में बताया गया है कि पड़रीना नगर में संचालित मदरसा दिया गया है फैजुल उलूम दारुल तालिम इस्लामिया में तैनात प्रधानाचार्य, दो शिक्षक और एक लिपिक को मदरसा के प्रबंधक ने निलंबित कर दिया है। इन पर बिना शिक्षण कार्य के वेतन और एरियर लेने का आरोप था। इसकी पुष्टि डीएम की तरफ से गठित जांच टीम ने की थी। इसे गंभीरता से लेते हुए इनके खिलाफ निलंबन और वेतन व एरियर के रूप में दी गई धनराशि की रिकवरी का आदेश


इस कार्रवाई से मदरसा कर्मचारियों में हड़कंप मचा है। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी लालमन ने बताया कि शासन के निर्देश पर मदरसा के

प्रधानाचार्य रहमतुल्ला से 60,24,780 रुपये, सहायक अध्यापक मोहम्मद नुरुल्लाह से 53,12,505 रुपये, सहायक अध्यापक मोहम्मद अतहर से 38,65,019 रुपये और लिपिक मोहम्मद रिजवान अंसारी से 25,42,281 रुपये की रिकवरी करना है इन लोगों ने बिना शिक्षण कार्य के वेतन और एरियर लिया था। इसकी रिकवरी के लिए शासन से मिले पत्र के मुताबिक कार्रवाई की जा रही है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇