नई शिक्षा नीति के तहत बच्चों के लिए तय हुआ 'ज्ञान का लक्ष्य', शिक्षकों मिला यह नया टारगेट


लखनऊ : नई शिक्षा नीति के तहत प्राइमरी के बच्चों के ज्ञान का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसके हिसाब से उन्हें तैयार किया जा रहा है ताकि वे लक्ष्य के अनुसार विषय का ज्ञान हासिल कर सकें।


भारत सरकार के निपुण भारत अभियान के तहत केंद्रीय विद्यालयों और अन्य स्कूलों को कक्षा एक से पांचवीं के बच्चों के लिए लर्निंग आउटकम बनाकर भेजा है। इसमें कक्षावार बच्चों को गणित, अंग्रेजी भाषा और पर्यावरण में विषय तय किया गया है। अपेक्षा की गई है कि शिक्षक कम से कम लर्निंग आउटकम के अनुसार बच्चे को उतना दक्ष बनाएं। बच्चे का साल में तीन बार मूल्यांकन होगा। केंद्रीय विद्यालय गोमतीनगर के प्राचार्य डा. सीबीपी वर्मा ने बताया कि सीबीएसई ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत कक्षा एक से पांचवीं तक के बच्चों की संख्यात्मक, भाषा और अन्य आधारभूत योग्यता के लिए एक लक्ष्य दिया गया है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇