तदर्थ शिक्षकों के फेर में फंसा वेतन


 

सुल्तानपुर अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों व शिक्षणेतर कर्मियों का वेतन तदर्थ शिक्षकों की वजह से फिर फंसता दिख रहा है। डीआईओएस ने सभी प्रबंधकों को पत्र जारी कर नियमित शिक्षकों व शिक्षणेतर कर्मियों का वेतन बिल प्रस्तुत करने को कहा है।संदर्भ अध्यापकों का मई का वेतन काफी जद्दोजहद के बाद रिलीज हुआ था।
जून से फिर वेतन बाधित हो गया है। बड़ी संख्या में शिक्षक बैंकों से ऋण लिए हैं जिनकी मासिक किस्त कटती है। वेतन खातों में क्रेडिट न होने से ऐसे कार्मिकों को क्रेडिट फॉल्ट हो रही है। जिला विद्यालय निरीक्षक सत्येंद्र कुमार सिंह ने छह अगस्त को सभी सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों के प्रबंधकों/प्रधानाचार्यों को निर्देश दिया था कि जून जुलाई का नियमित शिक्षकों व शिक्षणेतर कर्मियों का वेतन बिल तीन दिन के अंदर प्रस्तुत करें। साथ ही इस आशय का प्रमाणपत्र दे कि प्रस्तुत वेतन देवक में किसी भी तदर्थ शिक्षक का नाम सम्मिलित नहीं किया गया है। इस आदेश को लगभग 10 दिन से ज्यादा बीत चुके हैं लेकिन किसी भी विद्यालय ने वेतन बिल प्रस्तुत नहीं किया है। ऐसे में तदर्थ शिक्षकों की वजह से एक बार फिर वेतन फंसता हुआ नजर आ रहा है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇