मिड डे मील के बाद छात्रवृत्ति वितरण में घोटाला, मुकदमा


आगरा। फिरोजाबाद के शिक्षा विभाग में 11.46 करोड़ रुपये का मिड-डे मील पोटाला हुआ। इसमें विजिलेंस की जांच के बाद मुकदमा दर्ज किया गया अब शिक्षा विभाग का आगरा में छात्रवृत्ति घोटाला भी सामने आया है। शमसाबाद मार्ग के कहर मोड़ स्थित विद्यालय के प्रधानाचार्य के खिलाफ साक्ष्य मिलने पर विजिलेंस थाना में मुकदमा दर्ज किया गया है।
मामला ताजगंज के कारई मोड़ स्थित पवित्रा देवी इंटर कालेज का है। मुकदमे के मुताबिक, दस साल पहले कालेज में छात्रवृत्ति में घपले की शिकायत शासन में की गई थी। शासन के आदेश पर विजिलेंस ने गोपनीय जांच के बाद खुली जांच की साक्ष्य मिलने पर मुकदमा दर्ज कराया गया।



कालेज प्रबंधन पर वर्ष 2000 से 2004 के दौरान छात्रवृत्ति वितरण में घोटाला करने का आरोप लगा था जांच में पता चला कि छात्रों को वितरण के लिए मिली छात्रवृत्ति की बची धनराशि को समाज कल्याण विभाग को नहीं लौटाई गई। वर्ष 2019 में विजिलेंस ने कालेज प्रबंधन के दस्तावेजों की जांच की। इसमें पाया कि तत्कालीन प्रधानाचार्य ने छात्रवृत्ति वितरण का ब्योरा समाज कल्याण विभाग को उपलब्ध नहीं कराया गया है। कालेज प्रधानाचार्य राजवीर शर्मा ने छात्रवृत्ति की बची हुई राशि भी समाज कल्याण विभाग को नहीं लौटाई है।



छात्रवृत्ति में घोटाले के साक्ष्य मिलने पर विजिलेंस ने अपनी रिपोर्ट शासन को भेजी थी। इस पर आगरा परिक्षेत्र के थाना सतर्कता अधिष्ठान में प्रधानाचार्य राजवीर शर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, धोखाधड़ी और गबन के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया। एसपी विजिलेंस का कहना है कि मुकदमा दर्ज किया गया है। विवेचना की जा रही है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇