नहर में कूदकर जान देने पहुंची छात्र, शिक्षकों ने बचाया, प्रेमी से कहासुनी के बाद भड़की छात्रा





कलीनगर। माधोटांडा क्षेत्र के एक स्कूल की कक्षा सात की -छात्रा बृहस्पतिवार सुबह हरदोई ब्रांच नहर में कूदकर जान देने पहुंच गई।






पुल पर प्रेमी से कहासुनी के बाद छात्रा जान देने पर अड़ गई इस दौरान मार्ग से गुजर रही स्कूल की एक महिला शिक्षक ने छात्रा को समझाया। सूचना पर पहुंचे अन्य शिक्षक उसे स्कूल लाए।



छात्रा माधोटांडा क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है। पिछले कई साल से कस्बे में स्थित एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ती है पर से करीब पांच किलोमीटर की दूरी होने के चलते रोजाना साइकिल





से स्कूल आती जाती है। बृहस्पतिवार सुबह माधोटांडा पहुंचकर वह स्कूल न जाकर कलीनगर के निकट हरदोई ब्रांच नहर पुल पर पहुंच गई। वहां पहले से ही क्षेत्र का बाइक सवार एक किशोर खड़ा था, जो प्रेमी बताया जा रहा है।



दोनों में किसी बात को लेकर कहासुनी होने लगी। इसके बाद छात्रा नहर में कूदने के लिए पुल के ओर जाने लगी। किशोर उसे


 


रोकने का प्रयास करने लगा। इस दौरान मार्ग से गुजर रही स्कूल की की एक महिला शिक्षक ने यूनिफॉर्म में होने के चलते छात्रा को पहचान लिया।



शिक्षिका ने बाइक रुकवाई और छात्रा को समझाने का प्रयास करने लगी लेकिन वह रोते हुए जान देने की बात पर अड़ी रही। बीच सड़क पर यह सब देख अन्य राहगीर भी रुक गए। महिला शिक्षक की सूचना पर स्कूल का अन्य स्टाफ भी मौके पर पहुंच गया।



काफी मशक्कत के बाद छात्रा को समझाकर बाइक पर बैठाकर स्कूल लेकर पहुंचे। स्कूल प्रबंधन के पूछने पर भी छात्रा कुछ बोलने को तैयार नहीं हुई। सूचना परिजनों को दी गई।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇