बीएसए ने कच्चे रास्ते वाले 134 स्कूलों की सूची भेजी

प्रयागराज। पगडंडियों से होकर स्कूल जाने वाले बच्चों को पक्का और सुगम रास्ता मिलने की उम्मीद जगी है। आपके अपने अखबार हिन्दुस्तान में दो सितंबर के अंक में ‘पगडंडियों से गुजरते हैं 253 स्कूलों के बच्चे’ शीर्षक समाचार प्रकाशित होने के बाद सीएम कार्यालय से अखबार की क्लीपिंग कमिश्नर विजय विश्वास पंत को भेजकर रिपोर्ट मांगी गई है।


डीएम संजय कुमार खत्री ने पांच सितंबर को सीडीओ शिपू गिरि से ऐसे स्कूलों की रिपोर्ट तलब कर ली। सीडीओ ने सात सितंबर को बीएसए प्रवीण कुमार तिवारी से जानकारी मांगी। जिस पर बीएसए ने 134 स्कूलों की सूची सौंप दी है। बीएसए ने आठ सितंबर को इन स्कूलों की सूची जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ. वीके सिंह और नौ सितंबर को जिला पंचायत राज अधिकारी को भी भेजी है। ताकि कच्चे मार्ग के स्थान पर पक्की सड़कों का निर्माण हो सके।

मांडा में सर्वाधिक 15 स्कूल सड़कविहीन

बीएसए ने खंड शिक्षाधिकारियों के माध्यम से सड़क विहीन स्कूलों की जो सूची बनवाई उसमें मांडा के सर्वाधिक 15 स्कूल शामिल हैं। इसके अलावा हंडिया, सैदाबाद व फूलपुर के 13-13, करछना 12, बहरिया 11 और धनुपुर के नौ स्कूलों तक पहुंचने के लिए पक्की सड़क नहीं है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇