इंटरव्यू की वीडियोग्राफी के लिए अड़े अभ्यर्थी, अभ्यर्थियों ने असिस्टेंट प्रोफेसर की नई भर्ती में दिए सुधार के सुझाव


प्रयागराज । प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती में भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे अभ्यर्थी चाहते हैं। कि इंटरव्यू प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जाए। साथ ही परीक्षा का आयोजन सरकारी एवं स्तरीय विद्यालयों में ही कराया जाए। इसके लिए अभ्यर्थियों ने सोशल मीडिया पर अभियान छेड़ रखा है।


अशासकीय महाविद्यालयों में विज्ञापन संख्या-50 के तहत असिस्टेंट प्रोफेसर के 2002 पदों पर भर्ती के लिए आयोजित परीक्षा के परिणाम को लेकर अभ्यर्थी लगातार सवाल उठा रहे हैं। उनका कहना है कि कई विषयों में अभ्यर्थियों को इतने अधिक अंक मिले हैं, जितने अंक किसी विशेषज्ञ को मिलने भी मुश्किल हैं। क्रम से बैठे अभ्यर्थियों के अंकों में भी ज्यादा अंतर नहीं है।

इन दिनों विज्ञापन संख्या 51 के तहत 986 पदों पर भर्ती प्रक्रिया चल रही है। आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है और आयोग जल्द ही परीक्षा तिथि घोषित करने वाला है। ऐसे में भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वाले छात्रों की पहली मांग और सुझाव यही है कि रोल नंबर का आवंटन रजिस्ट्रेशन क्रम के आधार पर न किया जाए।

प्रतियोगी छात्र यह भी चाहते हैं। कि प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर एक आंतरिक परीक्षक के साथ एक बाह्य परीक्षक की तैनाती की जाए, जिसे जिलाधिकारी की ओर से अनुमोदित किया जाए। साक्षात्कार प्रक्रिया की वीडियो रिकार्डिंग कराई जाए। अभ्यर्थियों ने यह मांग भी की
है कि प्रवेश पत्र परीक्षा तिथि से दो सप्ताह पहले जारी किए जाएं। ब

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇