विद्यालय में आराम फरमाते मिले शिक्षक, सभी का वेतन रोका

लखीमपुर खीरी। बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय ने शिकायत के आधार पर शुक्रवार को मितौली क्षेत्र के तीन विद्यालयों का निरीक्षण किया, जिसमें कंपोजिट विद्यालय डहर में काफी अनियमितताएं मिलीं। विद्यालय में कार्यरत इंचार्ज प्रधानाध्यापक समेत दस शिक्षकों का भारी-भरकम स्टाफ अलग-अलग कमरों में बैठकर आराम फरमाता मिला। वहीं बच्चे कक्षाओं में शोर मचा रहे थे। इनमें कुछ गिनती के बच्चे ही यूनीफार्म पहने मिले। बीएसए ने प्रधानाध्यापक समेत दस शिक्षकों का वेतन बाधित कर दिया है।

कंपोजिट विद्यालय डहर में निरीक्षण के समय शिक्षामित्र बालकराम अनुपस्थित मिले। सहायक अध्यापक अमिता सिन्हा, बलवीर सिंह, अरविंद कुमार सिंह, रामानुज वर्मा, सोनिया सैनी, कमल किशोर, अनुदेशक अंकित, राजीव कुमार पांडेय, शिक्षामित्र शशि तिवारी उपस्थित मिले, जबकि इंचार्ज प्रधानाध्यापक होमेश्वर पांडेय की मूल रूप से तैनाती उच्च प्राथमिक विद्यालय चपरदहा में है, जिनके पास कंपोजिट विद्यालय डहर का वित्तीय चार्ज है।

बीएसए ने बताया कि निरीक्षण में पाया कि 10 लोगों का स्टाफ होने के बाद भी संयुक्त रूप से शिक्षण गतिविधियां नहीं हो रही थीं। प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक, शिक्षामित्र व अनुदेशक अलग-अलग इकाई संचालित कर रहे हैं, जिससे शैक्षिक स्तर प्रभावित हो रहा है। उच्च प्राथमिक कक्षाओं के बच्चे पहाड़े नहीं सुना सके। वाक्य जोड़कर नहीं पढ़ सके। सामान्य प्रश्नों के उत्तर भी नहीं दे सके। 280 बच्चों के सापेक्ष 78 बच्चे उपस्थित मिले, जिसमें एक-दो बच्चों के अलावा अन्य बच्चे यूनीफार्म में नहीं पाए गए। स्टाफ के लोग पिछले वर्ष के नामांकन और इस वर्ष विभाग से मिले नामांकन लक्ष्य की जानकारी नहीं दे सके। विद्यालय का भौतिक परिवेश खराब मिला, परिसर में गंदगी मिली। कंपोजिट ग्रांट से विद्यालय में रंगाई-पुताई, साफ सफाई आदि कार्य नहीं कराए गए हैं।
बीएसए ने बताया कि इन कमियों व अव्यवस्थाओं के मद्देनजर समस्त शैक्षिक स्टाफ का वेतन अग्रिम आदेश तक बाधित किया गया है। इसके अलावा वित्तीय प्रभारी प्रधानाध्यापक होमेश्वर पांडेय का वेतन भी अग्रिम आदेश तक बाधित किया गया है।
बीईओ मितौली को निर्देश हैं कि 20 दिन पर विद्यालय का निरीक्षण करें और विद्यालय में समस्त शैक्षिक व्यवस्थाएं, भौतिक परिवेश एवं एमडीएम योजना के उपयुक्त संचालन आदि की आख्या यथास्थिति उपलब्ध कराएं। इसके बाद बीएसए ने प्राथमिक विद्यालय गरगटिया का निरीक्षण किया, जहां 62 के सापेक्ष 20 बच्चे उपस्थित मिले। प्राथमिक विद्यालय बबौना में 219 बच्चों के सापेक्ष 62 बच्चे उपस्थित मिले। शैक्षिक व एमडीएम की गुणवत्ता संतोषजनक नहीं मिली। कंपोजिट ग्रांट से रंगाई-पुताई आदि कार्य नहीं कराए गए हैं। यहां भी बच्चे पहाड़े आदि नहीं सुना सके। इस पर बीएसए ने समस्त स्टाफ को चेतावनी देते हुए एक सप्ताह में सुधार के निर्देश दिए हैं। इसके बाद बीआरसी मितौली का निरीक्षण किया, जहां पर निपुण भारत मिशन के तहत चार दिवसीय प्रशिक्षण संचालित मिला।
विशेष निरीक्षण अभियान में तीन शिक्षक व नौ शिक्षामित्र अनुपस्थित मिले
मितौली ब्लॉक में शुक्रवार को विशेष निरीक्षण अभियान के तहत 63 विद्यालयों का निरीक्षण किया गया, जिसमें तीन शिक्षक व नौ शिक्षामित्र अनुपस्थित मिले हैं। बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय ने बताया कि अनुपस्थित शिक्षक व शिक्षामित्रों का एक दिन का वेतन/मानेदय बाधित करते हुए नोटिस जारी किया जा रहा है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇