यूपी बोर्ड से जुड़े स्कूलों ने ओएमआर पर नहीं कराई परीक्षा, राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत किया गया था बदलाव

यूपी बोर्ड से जुड़े अधिकांश स्कूलों ने कक्षा नौ की अर्द्धवार्षिक परीक्षा ओएमआर शीट पर नहीं कराई। विद्या भारती से जुड़े और कुछ राजकीय स्कूलों को छोड़ दें तो अधिकांश सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों और वित्तविहीन स्कूलों ने बोर्ड का आदेश नहीं माना। बोर्ड भी स्कूलों को आदेश देकर भूल गया और पूछने की जहमत नहीं उठाई की कितने स्कूलों ने ओएमआर शीट पर परीक्षा कराई है।


नवंबर के प्रथम सप्ताह में बोर्ड का आदेश आने के बाद ही स्कूलों ने हाथ खड़े कर दिए थे। सहायता प्राप्त स्कूलों के प्रधानाचार्यों का कहना है कि बजट नहीं होने के कारण यह संभव नहीं। कुछ स्कूलों ने ओएमआर की फोटो कॉपी पर बच्चों की परीक्षा कराई है। कुछ स्कूलों के बच्चों ने तो अपनी जेब से ओएमआर की फोटो कॉपी के पैसे दिए।

बोर्ड ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत बदलाव करते हुए कक्षा 9 की परीक्षा ओएमआर शीट पर कराने के आदेश दिए थे। 70 अंकों के प्रश्नपत्र में से 20 अंक के बहु विकल्पीय प्रश्न (मल्टीपल च्वॉयस क्वेश्चन) के उत्तर ओएमआर शीट पर देने थे।

2022 की बोर्ड परीक्षा से 163 स्कूल डिबार

प्रयागराज । यूपी बोर्ड ने 2022 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए डिबार स्कूलों की सूची जारी कर दी है। चूंकि पिछले साल कोरोना के कारण बोर्ड परीक्षाएं नहीं हो सकी थीं इसलिए अधिकांश स्कूल पूर्व के वर्षों में आयोजित परीक्षा के दौरान अनियमितता बरतने वाले ही हैं। बोर्ड ने 2021 की बोर्ड परीक्षा के लिए 23 जनवरी को 312 डिबार स्कूलों की सूची जारी की थी। इस साल 163 स्कूलों को डिबार की सूची में शामिल किया गया है। ये स्कूल 2022 की परीक्षा के लिए केंद्र नहीं बनाए जाएंगे। सर्वाधिक 32 स्कूल अलीगढ़, 16 बलिया और 14 प्रयागराज के हैं। मार्च अंत में प्रस्तावित 10वीं-12वीं की परीक्षा के लिए 24 जनवरी तक केंद्रों का निर्धारण होना है। वर्तमान में जिलों से सूचना मांगी जा रही है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇