बीएसए को ख़राब मिली शैक्षिक गुणवत्ता, शिक्षामित्र की सेवा समाप्त करने के निर्देश


सुल्तानपुर परिषदीय विद्यालयों के निरीक्षण में बीएसए को शैक्षिक गुणवत्ता खराब मिली। साथ ही मध्याहन भोजन भी गुणवत्तायुक्त नहीं मिला। बीएसए ने संबंधित शिक्षकों को नोटिस देकर जवाब तलब किया है। साथ ही लंबे समय अनुपस्थित एक शिक्षामित्र की सेवा समाप्त करने का भी निर्देश दिया है।

बीएसए दीवान सिंह यादव ने दूबेपुर के प्राथमिक विद्यालय पलहीपुर प्रथम का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान प्रधानाध्यापिका शिखा यादव, एक सहायक अध्यापक और तीन शिक्षामित्र उपस्थित पाईं गईं। निरीक्षण के समय बच्चे एमडीएम ग्रहण कर रहे थे। मीनू के मुताबिक एमडीएम में तहरी बनी थी लेकिन उसमें न सोयाबीन था और न ही हरी सब्जी डाली गई थी कोई शिक्षक डायरी उपलब्ध नहीं करा पाया। विद्यालय के मूल भवन में टाइल्स लगी नहीं पाई गई। बीएसए ने प्रधानाध्यापिका को गुणवत्तापूर्ण भोजन न बनवाने के मामले में उत्तरदायित्व के प्रति लापरवाही को देखते हुए नोटिस जारी किया है।

उच्च प्राथमिक विद्यालय पलहीपुर के निरीक्षण में एमडीएम में तहरी बनी थी लेकिन गुणवत्ता अत्यंत

विद्यालयों में मानक के अनुरूप नहीं दूबेपुर के प्राथमिक विद्यालय पूरे अहिरन मिला मध्याह्न भोजन

खराब पाई गई। ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत टाइलीकरण का कार्य नहीं मिला शौचालय भी साफ-सुथरा नहीं था प्राथमिक विद्यालय पलहीपुर द्वितीय में तहरी में मात्र सोयाबीन पाया गया। बल्दीराय विकास क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय महादेवा में प्रधानाध्यापिका डॉ. सुदक्षिणा मिश्रा एवं सहायक अध्यापिका प्रियंका सिंह, नीतू सिंह तथा दो शिक्षामित्र मौजूद मिले।

बीएसए ने कक्षा में जाकर पूछा कि हिंदी की किताब कितने बच्चे पढ़ सकते हैं तो मात्र पांच बच्चों ने ही हाथ ऊपर किए। शैक्षिक गुणवत्ता खराब मिलने पर बीएसए ने प्रधानाध्यापिका को कड़ी फटकार लगाई।

दूबेपुर विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय भट्ठी जरौली में रसोई घर के सामने पानी जमा मिला छात्र-छात्राओं का अधिगम स्तर न्यून पाया गया उच्च प्राथमिक विद्यालय पैगापुर में निरीक्षण के समय सहायक अध्यापक जयप्रकाश टीकाकरण ड्यूटी में लगाए गए थे। बोएसए ने जयप्रकाश को कार्यमुक्त करते हुए तीन दिन के अंदर अपने मूल विद्यालय में कार्यभार ग्रहण करने का निर्देश दिया।

में बच्चों का शैक्षिक स्तर न्यून पाया गया। विद्यालय के सभी शिक्षकों को बीएसए ने एक माह के अंदर शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार करने का निर्देश दिया। दूबेपुर के कंपोजिट विद्यालय कचनावां का परिसर गंदगी से भरा पाया गया। कक्षा आठ में बच्चों के बीच कुत्ता बैठा हुआ मिला। बीएसए ने प्रधानाध्यापक को निर्देश दिया कि अगले तीन माह की विद्यालय विकास योजना तैयार कर विद्यालय की फोटो के साथ अपना स्पष्टीकरण एक सप्ताह के अंदर खंड शिक्षा अधिकारी के माध्यम से उपलब्ध कराएं।

प्राथमिक विद्यालय त्रिलोकपुर में शिक्षामित्र मंजूलता छह सितंबर 2017 से लगातार अनुपस्थित पाई गई। बीएसए ने पटल सहायक नीरज श्रीवास्तव को मंजूलता की सेवा समाप्त करने का निर्देश दिया। प्रधानाध्यापक को नोटिस देकर स्पष्टीकरण भी तलब किया गया।

प्राथमिक विद्यालय पलिया प्रथम में परिसर गंदा पाया गया। बीएसए ने प्रधानाध्यापिका वंदना शर्मा को नोटिस जारी कर एक सप्ताह के अंदर अपना स्पष्टीकरण देने को कहा है। प्राथमिक विद्यालय दूबेपुर सरैया में निरीक्षण के दौरान बच्चों का अधिगम स्तर खराब मिला।


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇