मतदाता सूची को लेकर प्रधानों को देना होगा श्वेत पत्र

विधानसभा चुनाव के लिए मतदाता सूची अपडेट हो रही है। ग्राम पंचायतों में प्रत्येक पात्र का नाम वोटर लिस्ट में जुड़े इसके लिए निर्वाचन अधिकारियों के साथ-साथ ग्राम प्रधानों की भी जवाबदेही तय की जा रही है। ग्राम प्रधानों को श्वेत पत्र देना होगा कि उनके यहां शतप्रतिशत लोगों के नाम सूची में शामिल हो गए हैं।


जिला प्रशासन ने ग्रामीण इलाकों में अधिक से अधिक मतदाता जोड़ने के लिए अनोखी पहल की है। डीएम और जिला निर्वाचन अधिकारी अभिषेक प्रकाश के मुताबिक मतदाता सूची में अधिक से अधिक लोगों को जोड़ा जाए। इसके लिए सभी तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। एक तरफ जहां जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं, वहीं स्कूल और कालेजों में भी तरह-तरह के कार्यक्रम हो रहे हैं। उद्देश्य है कि जो भी पात्र हैं, जिनकी आयु 18 वर्ष से अधिक है और देश के नागरिक हैं उनके नाम मतदाता सूची में शामिल हों। ग्रामीण इलाकों में भी मतदाता सूची में सभी लोग शामिल हों इसके लिए प्रशासन ने एक योजना बनाई है। सभी ग्राम प्रधानों को लिखकर देना होगा कि उनके यहां कोई मतदाता सूची से वंचित तो नहीं है। शतप्रतिशत योगदान देने वाले प्रधानों को प्रशासन द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।

इस कार्य में तेजी के लिए सभी एसडीएम, तहसीलदार और सचिवों को निर्देश दिए गए हैं। प्रत्येक दिवस इसकी निगरानी होगी। दरअसल ग्राम पंचायतों में मतदाता सूची को लेकर अक्सर विवाद की स्थिति पैदा हो जाती है। चुनावी रंजिश और दूसरे कारणों से सूची से नाम गायब हो जाते हैं या फिर शामिल ही नहीं किए जाते। ऐसे में चुनाव के समय विवाद की स्थिति पैदा होती है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇