यूपी बोर्ड परीक्षा: व्यवस्थापक-स्टैटिक मजिस्ट्रेट ही ले जा सकेंगे मोबाइल फोन

यूपी बोर्ड परीक्षाओं को लेकर माध्यमिक शिक्षा विभाग किसी स्तर पर समझौते को तैयार नहीं है। यही कारण है कि इस बार विभाग ने परीक्षा केंद्रों के भीतर मोबाइल फोन प्रतिबंधित कर दिया है। विद्यार्थी, कक्ष निरीक्षक, जिला विद्यालय निरीक्षक को भी मोबाइल के साथ केंद्र में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। केंद्र व्यवस्थापक और स्टैटिक मजिस्ट्रेट ही परीक्षा केंद्र के अंदर मोबाइल फोन ले जा सकेंगे। मोबाइल फोन सभी परीक्षा केंद्र के बाहर सुरक्षित स्थान पर जमा करना होगा, उसके बाद ही किसी भी अधिकारी को केंद्र के भीतर जाने की अनुमति मिलेगी।


तीन जिम्मेदारों की मौजूदगी में खोले जाएंगे प्रश्नपत्र: परीक्षा शुरू होने से पूर्व केंद्र के स्ट्रांग रूम के डबल लाक में रखे प्रश्नपत्र को परीक्षा कक्ष में लाया जाएगा। प्रश्नपत्र के सील्ड बंडल को केंद्र व्यवस्थापक (प्रधानाचार्य), बाह्य केंद्र व्यवस्थापक (राजकीय/ एडेड विद्यालय के लगाए गए प्रधानाचार्य), अथवा और स्टैटिक मजिस्ट्रेट (जिलाधिकारी द्वारा नामित अधिकारी) की मौजूदगी में ही खोला जाएगा। ऐसे में परीक्षा से पूर्व केंद्र व्यवस्थापक, बाह्य केंद्र व्यवस्थापक और स्टैटिक मजिस्ट्रेट को मौजूद रहना होगा। इनकी उपस्थिति में ही प्रश्नपत्र का बंडल खोलकर विद्यार्थियों को प्रश्नपत्र वितरित किए जाएंगे।

अन्य सभी के लिए परीक्षा केंद्र पर प्रतिबंधित रहेगा फोन, नकल रोकने के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग ने किए पुख्ता प्रबंध

यूपी बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर डीआइओएस कार्यालय में तैयार हो रहे आनलाइन मानीटरिंग कंट्रोल रूम का निरीक्षण करते डीआइओएस डा. अमरकांत सिंह ’ सौ: कार्यालय

यूपी बोर्ड परीक्षाओं को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। परीक्षा संबंधी दिशा-निर्देश पहले ही जारी कर दिए गए हैं। परीक्षा के दौरान विद्यार्थी अपना पूरा समय दें। बच्चों को किसी भी तरह की असुविधा न हो, इसके लिए अधिकारियों को सख्त आदेश दिए गए हैं।

आराधना शुक्ला, अपर मुख्य सचिव, माध्यमिक शिक्षा

पांच बाहरी केंद्र व्यवस्थापकों पर कार्रवाई, वेतन रोका

डीआइओएस डा. अमरकांत सिंह ने पांच परीक्षा केंद्रों के बाहरी केंद्र व्यवस्थापकों को चिह्न्ति करते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई के आदेश जारी किए हैं। साथ ही इन पांच बाहरी केंद्र व्यवस्थापकों द्वारा अभी तक केंद्र पर उपस्थित न होने के कारण इनके वेतन रोकने के आदेश दिए गए हैं। डीआइओएस ने बताया कि इनमें मनोज कुमारी, अमिता सिंह, सूर्य सूर्य बाला, मंजू मिश्र और सीमा राठी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि अगले आदेशों तक इनका वेतन रोक दिया गया है।

नकल रोकने के लिए पहली बार किए ये प्रयास

’>>पहली बार जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में आनलाइन निगरानी केंद्र व कंट्रोल रूम बनाया गया।

’>>विभाग ने साफ्टवेयर के माध्यम से परीक्षा केंद्रों पर केंद्र व्यवस्थापक, कक्ष निरीक्षकों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है।

’>>हर परीक्षा केंद्र पर 50 प्रतिशत अध्यापकों की ड्यूटी वाह्य कक्ष निरीक्षकों के रूप में लगाई गई है।

’>>हर पांचवें परीक्षा दिवस के बाद, साफ्टवेयर के माध्यम से पुन: कक्ष निरीक्षकों की ड्यूटी में परिवर्तन होगा।

’>>मोबाइल फोन को केंद्र पर पूरी तरह प्रतिबंधित रखा गया है।

’>>सचल दल को अच्छी स्थिति के वाहन उपलब्ध कराए गए हैं।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇