कहीं पूरे स्टाफ की लगाई बोर्ड परीक्ष में ड्यूटी तो कहीं मृतकों का नाम ड्यूटी सूची में शामिल

  Sambhal: ये सुनकर हैरत ही होगी कि नकलविहीन परीक्षा कराने का दावा कर रहा बेसिक शिक्षा विभाग 23 मार्च से शुरू हो रही परिषदीय विद्यालयों की वार्षिक परीक्षा में नकल पकड़वाने के लिए दुनिया से गुजर चुके कर्मचारियों का भी सहारा ले रहा है। जी हां ऐसा ही विभाग ने कारनामा किया है। परीक्षा ड्यूटी में शामिल कर्मचारियों की सूची में कई मृत शिक्षकों की भी ड्यूटी लगाई गई है।


ड्यूटी लगाने में लापरवाही इस कदर की गई है कि इस्तीफा दे चुके शिक्षकों के नाम भी शामिल किए गए हैं। जिनका तबादला जिले से बाहर हो चुका वह भी ड्यूटी सूची में दर्ज कर दिए गए हैं। कई विद्यालय ऐसे हैं जिनके पूरे स्टाफ की ड्यूटी लगाई गई है। अब समस्या यह आ गई है कि 23 मार्च से परिषदीय विद्यालयों की भी वार्षिक परीक्षा शुरू हो रही है। यह परीक्षाएं 23 से 28 तक चलेंगी। उसके बाद मूल्यांकन व परीक्षा फल की घोषणा की जानी है। यह कार्य बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों को 31 मार्च तक पूरा करना है। जबकि बोर्ड परीक्षा 24 मार्च से शुरू हो रही है। अब वह शिक्षक परेशान हैं जिनके पूरे स्टाफ की ड्यूटी बोर्ड परीक्षा में लग गई है और विद्यालय में कोई शिक्षामित्र भी तैनात नहीं है। कई शिक्षकों ने इसकी शिकायत बेसिक शिक्षा अधिकारी से की लेकिन वह समाधान नहीं कर सकीं। जिला विद्यालय निरीक्षक माध्यमिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों से ड्यूटी कराने की तैयारी में जुट गए हैं। इस बाबत जब बेसिक शिक्षा अधिकारी दीपिका चतुर्वेदी से बात करनी चाही तो उनका फोन नहीं उठा।

गांव ऐंजरा स्थित जूनियर हाईस्कूल में तैनात रहे शिक्षक विशाल अग्रवाल की ड्यूटी बोर्ड परीक्षा में लगाई गई है। जबकि विशाल अग्रवाल की मौत 13 फरवरी 2022 को हो चुकी है। गांव बंजरपुरी स्थित प्राथमिक विद्यालय में तैनात रहे गोपाल शर्मा की ड्यूटी बोर्ड परीक्षा में लगाई है। वह एक वर्ष पहले सेवानिवृत्त हो चुके हैं। गांव भवानीपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय में तैनात रहीं शिक्षिका आईना गुप्ता ने आठ महीने पहले इस्तीफा दे दिया है, फिर भी इनकी भी ड्यूटी लगा दी गई है।
उदाहरण दो- कस्बा नरौली स्थित कन्या जूनियर हाईस्कूल में अध्यापक अमिता सक्सेना, इतिक्षा शर्मा, ममता सक्सेना, ममता शर्मा व अल्पना की तैनाती है। इस पूरे स्टाफ की ड्यूटी बोर्ड परीक्षा में लगा दी गई है। ऐसे में स्कूल बंद हो जाएगा।
गांव जनैटा स्थित प्राथमिक विद्यालय द्वितीय में प्रधानाध्यापक राखी अग्रवाल और सहायक अध्यापक मोहम्मद असलम की ड्यूटी बोर्ड परीक्षा में लगाई गई है। इस विद्यालय में दो ही शिक्षक हैं। प्राथमिक विद्यालय की परीक्षा कैसे होगी। यह सवाल शिक्षकों को परेशान कर रहा है।
मुझे ऐसी जानकारी मिली है कि कई विद्यालय के पूरे स्टाफ की ड्यूटी लगा दी गई है। ये ड्यूटी प्रयागराज से लगी हैं। जिला स्तर पर समस्या का समाधान किए जाने का प्रयास किया जा रहा है। जिससे जिले का कोई भी परिषदीय विद्यालय बंद न रहे। बोर्ड परीक्षा के साथ ही परिषदीय विद्यालयों की भी परीक्षा संपन्न हो सके। जो शिक्षक बेसिक शिक्षा विभाग के नहीं आ पाएंगे उनके स्थान पर माध्यमिक शिक्षा विभाग के अध्यापकों से ड्यूटी कराई जाएगी। इस पर काम किया जा रहा है।
मनोज कुमार आर्या, जिला विद्यालय निरीक्षक
primary ka master, primary ka master current news, primarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇