कैबिनेट का फैसला:- हर घर तिरंगा कार्यक्रम हेतु झंडा लेने पर 40 करोड़ रुपये खर्च होंगे

 राज्य सरकार हर घर तिरंगा कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए 40 करोड़ रुपये खर्च कर झंडा खरीदेगी। इसके लिए 30 करोड़ पंचायती राज और 10 करोड़ रुपये नगर विकास विभाग देगा।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कैबिनेट बाई सर्कुलेशन इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। शहरी और ग्रामीण आबादी को ध्यान में रखते हुए एमएसएमई के माध्यम से इसे खरीदा जाएंगे। इसमें से 75 फीसदी ग्रामीण क्षेत्रों और 25 फीसदी झंडा शहरी क्षेत्र के लिए लिया जाएगा। नगर विकास विभाग इसके लिए 10 करोड़ रुपये का भुगतान राज्य वित्त आयोग अनुदान से करेगा। शहरी क्षेत्र के लिए 50 लाख झंडे की जरूरत है।

उच्च गुणवत्ता के 20 गुणे 30 आकार के राष्ट्रीय झंडे के क्रय के लिए एमएसएमई विभाग जेम पोर्टल से आपूर्तिकर्ता फर्म के माध्यम से जिलों में इसे पहुंचाएगा। दो करोड़ झंडे इसके माध्यम से लिए जाएंगे और 1.18 करोड़ झंडे जिला स्तर पर डीएम स्वयं सहायता समूह व अन्य संगठनों से तैयार कराएंगे। इसके लिए सीएसआर संसाधानों का उपयोग किया जाएगा। अभियान के दौरान सभी सरकारी, गैर सरकारी कार्यालय, शिक्षण संस्थान, वाणिज्यिक, व्यवसायिक और औद्योगिक प्रतिष्ठान खादी से निर्मित झंडों को अपने संसाधनों से खरीदेंगे।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇