नदारद शिक्षा मित्रों व अनुदेशक का वेतन रोका, रुका वेतन बहाल कराने आए शिक्षक का फिर रोका वेतन

अमेठी, संवाददाता। परिषदीय स्कूलों की जांच के लिए बीएसए द्वारा सघन अभियान चलाया जा रहा है। शनिवार को चलाए गए अभियान में गौरीगंज, जामो और बहादुरपुर ब्लाक के स्कूलों की जांच की गई। गौरीगंज में खंड शिक्षा अधिकारी भेटुआ, भादर, गौरीगंज के साथ ही डीसी एमआईएस व डीसी सामुदायिक ने निरीक्षण किया।


वहीं जामो में खंड शिक्षा अधिकारी जामो और खंड शिक्षा अधिकारी जगदीशपुर ने निरीक्षण किया। बहादुरपुर में खंड शिक्षा अधिकारी बहादुरपुर, खंड शिक्षा अधिकारी तिलोई व खंड शिक्षा अधिकारी संग्रामपुर ने निरीक्षण किया। बीएसए डा. अरविंद कुमार पाठक ने राजगढ़, हरखपुर आदि स्कूलों का निरीक्षण किया।

उन्होंने बताया कि लगभग 70 स्कूलों का निरीक्षण किया गया है। निरीक्षण में जामो के देवसीपुर व गोरियाबाद के शिक्षामित्र जबकि गौरीगंज के मनीपुर स्कूल में अनुदेशक और पठानपुर में शिक्षा मित्र गायब मिले। सभी का वेतन रोकने का आदेश जारी किया गया है।


रुका वेतन बहाल कराने आए शिक्षक का फिर रोका वेतन
अपना वेतन बहाल कराने के लिए बिना अवकाश लिए बीएसए कार्यालय पैरवी करने आना शिक्षक को महंगा पड़ गया। बीएसए ने कार्रवाई करते हुए उस दिन का भी वेतन रोक दिया। इसके साथ ही स्पष्टीकरण तलब करते हुए अग्रिम कार्रवाई की चेतावनी भी दी है। खंड शिक्षा अधिकारी जगदीशपुर ने 19 जुलाई को बाजार शुकुल के कंपोजिट विद्यालय में माझगांव का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के समय प्रधानाध्यापक सतीश चंद्र शुक्ला अनुपस्थित पाए गए थे। खंड शिक्षा अधिकारी की जांच आख्या के आधार पर बीएसए ने प्रधानाध्यापक का 19 जुलाई का वेतन रोकने का आदेश जारी किया था। वेतन बहाल कराने के लिए 22 जुलाई को साढ़े बजे सतीश चंद शुक्ला बीएसए कार्यालय आए थे। बीएसए की मानें तो पूछने पर बताया कि अवकाश ले रखा है। जांच में पाया गया कि कोई आकस्मिक अवकाश नहीं लिया गया था। जिस पर कार्रवाई करते हुए बीएसए ने उनका 22 तारीख का भी वेतन रोकने का आदेश जारी कर दिया। इसके साथ ही बीएसए ने उन्हें तीन दिन के भीतर अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने को कहा है।

स्कूल का गेट टूटा, बाल-बाल बचे बच्चे

जिले में शुरू हुआ परिषदीय स्कूलों में किताबों का वितरण

अमेठी। परिषदीय स्कूलों के बच्चों के लिए किताबों के आने का सिलसिला शुरू हो गया है। कक्षा 6 की एक लाख किताबें आ गई हैं। जिन्हें ब्लाकों पर पहुंचाया जा रहा है। शीघ्र ही इनका वितरण कराया जाएगा। परिषदीय स्कूल दोबारा खुले एक माह से अधिक का समय बीत चुका है। अब तक स्कूलों में किताबों का वितरण नहीं हो पाया था। वहीं शुक्रवार से किताबों का वितरण शुरू हो गया है। बीएसए डॉ. अरविंद कुमार पाठक ने बताया कि छठवीं कक्षा की किताबें जिले पर आ चुकी हैं। जिन्हें ब्लाकों पर पहुंचाया जा रहा है। शेष कक्षाओं की किताबें भी जल्द आने की संभावना है। उन्होंने बताया कि जिले में विभिन्न कक्षाओं के लिए 13 लाख किताबों का क्रयादेश जारी किया गया है। सभी किताबें उपलब्ध कराने को पत्राचार किया गया है। जब तक नई किताबें नहीं आ रही है सभी स्कूलों में पुरानी किताबों से कक्षाओं का संचालन किया जा रहा है।

अमेठी। घटिया निर्माण के चलते ग्राम पंचायत द्वारा बनवाये गये प्राथमिक स्कूल की बाउंड्री में लगा दरवाजा अचानक गिर गया। अचानक दरवाजा गिरने से स्कूली बच्चे घायल होने से बाल-बाल बच गये।

ब्लाक भादर के खौंपुर गुरुदत्तगढ़ प्राथमिक विद्यालय के बाउंड्रीवाल का दरवाजा घटिया निर्माण सामाग्री प्रयोग होने से चार माह मे ही धराशायी हो गया। शनिवार की सुबह प्राथमिक स्कूल की बाउंड्रीवाल में लगा दरवाजा अचानक गिर गया। हादसे मे स्कूल पहुंचे बच्चे घायल होने से बच गये। बाउंड्रीवाल के दरवाजे के गिरने की सूचना जिला के उच्चाधिकारियों को मिलते ही आनन-फानन में ग्राम प्रधान ने बाउंड्री वाल के गिरे दरवाजे को तत्काल राजगीर और मजदूर लगाकर दुरुस्त कराना शुरू कर दिया। खंड शिक्षा अधिकारी भादर शिव कुमार यादव ने बताया कि स्कूल के प्रधानाचार्य ने बाउंड्रीवाल मे लगा गेट के गिरने की जानकारी दी है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇