आठवीं की छात्रा को जातिसूचक गालियां देकर स्कूल से बाहर निकालने का आरोप


उत्तर प्रदेश के भदोही में एक दलित लड़की को कथित रूप से जातिवादी गाली देने और स्कूल से बाहर निकलाने का मामला सामने आया है। आरोप है कि स्कूल की वर्दी ना पहनने को लेकर पूर्व प्रधान ने दलित युवती को जातिसूचक गालियां दी और स्कूल से निकाल दिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी की पहचान पूर्व प्रधान मनोज कुमार दुबे के रूप में हुई है। पुलिस के मुताबिक आरोपी ना तो अधिकारी है और न ही शिक्षक, फिर भी वह हर दिन स्कूल जाता है और शिक्षकों और बच्चों के साथ दुर्व्यवहार करता है।

चौरी थाना प्रभारी गिरिजा शंकर यादव के मुताबिक दुबे ने सोमवार को सरकारी स्कूल की आठवीं कक्षा की छात्रा से वर्दी नहीं पहनने को लेकर पूछताछ की। इस दौरान लड़की ने उसने कहा कि जब उसके पिता वर्दी खरीदेंगे तो वो वर्दी पहन लेगी। आरोप है कि मनोज कुमार दुबे इस बात से भड़क गया और उसने लड़की की ना सिर्फ पिटाई की बल्कि उसे जातिसूचक शब्द बोलते हुए स्कूल से बाहर भी निकाल दिया। पुलिस के मुताबिक बच्ची की मां की शिकायत के आधार पर आरोपी के खिलाफ मारपीट, धमकाने और एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी फरार है जिसकी तलाश की जा रही है।


पुलिस के मुताबिक आरोपी अक्सर स्कूल टीचरों पर धौंस जमाता है और उनके साथ बदतमीजी करता है। उसके रसूख के चलते प्रिंसिपल से लेकर टीचर तक सब डरे-सहमे रहते हैं। कोई भी टीचर आरोपी के खिलाफ आवाज नहीं उठाता। आरोपी हर रोज स्कूल आता है और स्कूल को अपनी जागीर समझता है और हर किसी के साथ मनमाना व्यवहार करता है और गाली-गलौज करता है।


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇