ट्रैक पर मिला ब्लैकमेलिंग के शिकार शिक्षक का शव


कुंडा (प्रतापगढ़), संवाददाता। शिक्षक

का शव रेलवे ट्रैक पर पड़ा मिला। वीडियो कॉल करके ब्लैकमेल करने वाले गिरोह के चंगुल में फंसे शिक्षक के परिजनों ने हत्या का शक जताते हुए पुलिस से कार्रवाई की मांग की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बाघराय थानाक्षेत्र के मलावां छजईपुर निवासी शिवशंकर शुक्ला सुंदरगंज बाजार स्थित राम स्वरूप इंटर कॉलेज के संस्थापक व प्रधानाचार्य रह चुके हैं। उनके पुत्र बद्री विशाल शुक्ला (55) इसी कॉलेज में अंग्रेजी के प्रवक्ता थे। रविवार को दोपहर तकरीबन ढाई बजे वह स्कूटी कॉलेज में खड़ी करके पैदल निकल गए। रात तकरीबन 11 बजे उनका क्षतविक्षत शव रेलवे ट्रैक पर मिला। बेटे हरिओम उर्फ विकास शुक्ला ने शव की दशा देखकर हत्या की आशंका जताई। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर सोमवार को शव परिजनों को सौंप दिया। बद्री विशाल की पत्नी रेखा शुक्ला का कहना है कि उनके पति वीडियो कॉल करके ब्लैकमेल करने वाले गिरोह के जाल में फंस गए थे। गिरोह के दबाव में कई बार रुपये दे चुके थे। यह बात बद्री विशाल ने पत्नी को बताई थी। रेखा ने उनसे कहा कि अब गिरोह को रुपये मत दीजिए, जो होगा मिलकर सामना किया जाएगा। रेखा का आरोप है कि ब्लैकमेल करने वाले ने रविवार को फिर फोन करके रुपये की मांग की तो इनकार करते हुए उन्होंने फोन बंद कर दिया। इसके बाद उनकी लाश मिली। रेखा भी पति की हत्या की आशंका जता रही हैं। मृतक के चचेरे भाई शशिकांत शुक्ला लखनऊ में स्वास्थ्य विभाग में उपसचिव हैं। उन्होंने एसपी से उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।

हत्या की ओर इशारा कर रहे चोट के निशान बद्री विशाल शुक्ला के शव के पोस्टमार्टम के दौरान शरीर पर मिले चोट के निशान हत्या का संदेह पैदा कर रहे हैं। उनकी गर्दन पीछे की तरफ से आधी कटी मिली। इस आधार पर हत्या का शक जताया जा रहा है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇