जिले में एक लाख छात्रों को नहीं मिला डीबीटी का लाभ


कन्नौज। जिले में कक्षा एक से आठ तक के करीब एक लाख छात्र-छात्राओं को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) का लाभ नहीं मिला है। इनके अभिभावकों के खाते में यूनिफार्म के पैसे नहीं आए हैं। जिन 73 हजार 889 अभिभावकों के खातों में 1200-1200 रुपये के हिसाब से भेजा भी गया था, उनमें ज्यादातर ने यूनिफार्म ही नहीं सिलवाई है।

जिले में 1006 प्राथमिक, 259 उच्च प्राथमिक और 194 कंपोजिट समेत 1459 विद्यालय हैं। बेसिक शिक्षा कार्यालय के मुताबिक जुलाई में एक लाख 76 हजार 74 छात्र-छात्राएं पंजीकृत थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने जुलाई अंतिम सप्ताह में डीबीटी के तहत छात्र-छात्राओं की यूनिफार्म के लिए अभिभावकों के बैंक खातों में भुगतान भेजा था।

उसके तहत जिले में 73 हजार 889 अभिभावकों को लाभ मिला। कुल आठ करोड़ 86 लाख 66 हजार 800 रुपये भेजा जा चुका है। इसके अलावा 61 हजार 425 छात्र-छात्राओं का डाटा अपलोड कर दिया गया है। जल्द ही उनके बैंक खातों में डीबीटी का लाभ दिए जाने की बात कही गई है। जिन परिषदीय स्कूलों में छात्र-छात्राओं के लिए 1200-1200 रुपये भेजे गए हैं, उसमें ज्यादातर ने यूनिफार्म सिलवाई ही नहीं है।सभी बीईओ को निर्देश दिए हैं कि परिषदीय स्कूलों में अभिभावकों के साथ बैठक कर डीबीटी के बारे में जानकारी दें। कई स्कूलों में बैठकें हुईं भी हैं। जिन अभिभावकों के खातों में रुपये पहुंचे हैं, उनसे छात्र-छात्राओं की यूनिफार्म सिलवाने को कहें। बच्चों के लिए आया रुपया उनकी यूनिफार्म, बैग, जूता-मोजा और कापी पर ही खर्च होना चाहिए। -कौस्तुभ सिंह, बीएसए।प्राथमिक स्कूल यूसुफपुर भगवान की प्रभारी प्रधानाध्यापक अनीता तिवारी ने बताया कि कक्षा तीन की छात्रा जोयल के पिता सुनील के बैंक खाते में 1200 रुपये भेज दिए गए हैं। सुनील ने बताया कि उनको पता नहीं है कि रुपये आए हैं।

कक्षा दो की छात्रा नैना बाथम की मां मंजू के बैंक खाते में 1200 रुपये भेजे जाने की पोर्टल पर जानकारी दिख रही है। प्रभारी प्रधानाध्यापक ने परिजनों से यूनिफार्म सिलवाने को कहा है।नगर क्षेत्र के प्राथमिक स्कूल युसूफपुर भगवान की प्रभारी प्रधानाध्यापक अनीता तिवारी ने बताया कि पंजीकृत 155 छात्र-छात्राओं में 134 की डीबीटी फीडिंग हो गई है। 107 बच्चों के अभिभावकों के बैंक खातों में रुपया भेज दिया गया है। 88 के बैंक खाते में आधार फीड है। बताया कि कुछ परिजन ऐसे भी हैं, जिन्होंने पहले ही यूनिफार्म सिलवा दी, जबकि कुछ ने डीबीटी का लाभ मिलने के बाद भी ध्यान नहीं दिया।प्राथमिक स्कूल पकरिया टोला प्रथम के प्रधानाध्यापक कृष्ण श्रीवास्तव ने बताया कि पंजीकृत 75 छात्र-छात्राएं हैं, इसमें 63 की फीडिंग हो गई है। 49 छात्र-छात्राओं के परिजनों के बैंक खातों में रुपये भेजे गए हैं। इसमें 14 बैंक खातों में 1200-1200 रुपये नहीं जा सके हैं, इसका कारण आधार सीड न होना है। बताया कि रुपये जाने के बाद भी कई परिजन गलत जानकारी देते हैं।


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇