कल 30 नवंबर की रैली में दस लाख से अधिक शिक्षकों- कर्मचारियों के पहुंचने का दावा

 

कल 30 नवंबर की रैली में दस लाख से अधिक शिक्षकों- कर्मचारियों के पहुंचने का दावा 
कर्मचारियों और शिक्षकों की 30 नवम्बर को इकोग्रार्डन में होने वाली रैली की समीक्षा बैठक रविवार को की गई। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की संयुक्त कार्य समिति की बैठक शिक्षक भवन रिसालदार पार्क में हुई।जिसकी अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष डॉ दिनेश चंद्र शर्मा ने की है। 



डॉ दिनेश चन्द्र शर्मा ने कहा कि प्रदेश के कर्मचारी एवं शिक्षक पुरानी पेंशन बहाली सहित अपनी मांगों को लेकर 30 नवंबर 2021 को लाखों कर्मचारी व शिक्षक लखनऊ की महारैली में प्रतिभाग करेंगे। इसके बावजूद भी सरकार द्वारा पुरानी पेंशन बहाल न की गई तो आगे भी कड़े निर्णय लिए जाएंगे। उन्होंन बताया कि प्रदेश भर से 10 शिक्षक-कर्मचारियों के रैली में शामिल होने की संभावना है। सुधांशु मोहन ने कहा कि प्रदेश में एक दिन की शपथ लेकर काम करने वाले विधायक एवं सांसद पुरानी पेंशन पाने का हकदार हो जाता है, लेकिन 60 से 62 वर्ष की आयु तक कार्य करने वाले कर्मचारी-शिक्षकों के बुढ़ापे का सहारा पुरानी पेंशन छीन ली गई। जिसकी बहाली के प्रति सरकार सम्वेदन शून्य है, कर्मचारियों एवं शिक्षकों के 18 महीने के महंगाई भत्ते का लगभग 10 हजार करोड़ का भुगतान सरकार द्वारा रोक दिया गया है। परिषदीय विद्यालयों में 1.25 लाख प्रधानाध्यापक पद समाप्त कर दिए गए। बैठक में राधे रमण त्रिपाठी, शिव शंकर पांडे, कृष्णा नन्द राय, देवेन्द्र श्रीवास्तव, सुधांशु मोहन, संजीव शर्मा, आशुतोष त्रिपाठी, बृजेश पांडे, अनिल पाण्डेय अक्षत पांडे सहित प्रदेश कार्यसमिति के सभी पदाधिकारी और जिलों के अध्यक्ष, मंत्री शामिल रहे।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇