UPTET प्रश्नपत्र लीक, टीईटी रद्द, 35 गिरफ्तार: जांच एसटीएफ को सौंपी, अब एक माह के अंदर दोबारा परीक्षा

लखनऊ : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2021 का प्रश्नपत्र रविवार को परीक्षा शुरू होने से पहले ही लीक हो गया। सरकार ने दोनों पालियों की परीक्षा रद कर दी है। इसमें 21 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होने वाले थे। अब एक माह के अंदर दोबारा परीक्षा कराई जाएगी। नई तिथि की घोषणा जल्द होगी। इंटरनेट मीडिया पर पेपर लीक करने वाले 35 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है। इसमें प्रयागराज निवासी साल्वर गैंग का सरगना सहित बिहार राज्य के आठ साल्वर शामिल हैं। इस मामले की जांच एसटीएफ को सौंपी गई है।


प्राथमिक विद्यालयों की शिक्षक भर्ती की अर्हता परीक्षा यूपी टीईटी रविवार को दो पालियों में प्रदेश भर के सभी जिला मुख्यालयों पर शुरू हुई। शनिवार रात से ही कई जिलों में इंटरनेट मीडिया (वाट्सएप) आदि पर प्रश्नपत्र व हल पेपर वायरल होना शुरू हो गए थे। गाजियाबाद, मथुरा, बुलंदशहर, प्रयागराज आदि जिलों से पेपर लीक और हल प्रश्नपत्र सामने आने पर कार्रवाई शुरू हुई।

प्रमुख सचिव (बेसिक शिक्षा) दीपक कुमार ने कहा कि शासन ने परीक्षा की शुचिता व पारदर्शिता बनाए रखने के लिए दोनों पालियों की परीक्षा रद करने का निर्णय लिया है। एक माह के अंदर दोबारा परीक्षा कराई जाएगी। परीक्षार्थियों को दोबारा आवेदन करने की जरूरत नहीं होगी और न ही कोई शुल्क देना होगा। दोबारा परीक्षा का पूरा खर्च सरकार उठाएगी। दीपक कुमार ने कहा कि एसटीएफ की जांच में परीक्षा एजेंसी की भूमिका सामने आएगी तो उसी के अनुरूप निर्णय लिए जाएंगे। पेपर कहां से लीक हुआ, कौन-कौन इसमें शामिल हैं, इन सवालों के उत्तर तलाशे जा रहे हैं।

वापसी के लिए नि:शुल्क बसें : एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि परीक्षा रद हुई है, इसलिए सरकार ने परीक्षार्थियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए परिवहन विभाग की बसें लगाईं। परीक्षार्थियों ने एडमिट कार्ड दिखाकर बिना पैसे दिए यात्र की।


आरोपितों के खिलाफ होगी गैंगस्टर की कार्रवाई, संपत्ति जब्त की जाएगी, अभ्यर्थियों के साथ है सरकार
रविवार को यूपीटीईटी की परीक्षा रद होने पर परीक्षार्थियों में निराशा छा गई। कासगंज के श्री गणोश इंटर कालेज के बाहर रोती महिला परीक्षार्थी ’ संजय धूपर

नकल माफिया को पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया था। इस मामले में विभिन्न जिलों में गिरफ्तारी हुई है। इसमें बिहार सहित अन्य राज्यों के साल्वर भी पकड़े गए हैं। मामले की जांच एसटीएफ को सौंपी गई है।
प्रशांत कुमार, एडीजी कानून-व्यवस्था

परीक्षा एक नजर में
’प्रदेश के 2554 परीक्षा केंद्रों पर 21,65,181 परीक्षार्थी थे पंजीकृत।
’प्राथमिक स्तर की परीक्षा 2554 केंद्रों पर 12,91628 को होना था शामिल।
’उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा 1747 केंद्रों पर 8,73,553 को होना था शामिल।
’पहली पाली 10 से 12.30 बजे।
’दूसरी पाली 2.30 से 5.00 बजे।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇