छात्राओं को दिया जा रहा था बासी भोजन, मुकदमा

लखनऊ : मोहान रोड स्थित राजकीय आश्रम पद्धति बालिका इंटर कालेज में फूड प्वाइजनिंग से बीमार 18 छात्रओं में से 16 को लोकबंधु अस्पताल, एक को सरोजनीनगर स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। एक अन्य छात्र की हालत गंभीर होने पर उसे केजीएमयू में भर्ती कराया गया।


लोकबंधु में भर्ती छात्रओं से रविवार को प्रमुख सचिव समाज कल्याण हिमांशु कुमार ने बातचीत कर मामले की जानकारी ली। छात्रओं ने बताया कि उन्हें कई दिनों ने बासी भोजन दिया जा रहा था। प्रधानाचार्य वंदना त्रिवेदी से कई बार शिकायत के बावजूद सुनवाई नहीं हुई। शनिवार को भी शिकायत की गई थी। पहले एक-दो छात्रओं को उल्टी और पेट दर्द की शिकायत हुई, लेकिन प्रधानाचार्य ने ध्यान नहीं दिया। छात्रओं की आपबीती सुनकर स्तब्ध प्रमुख सचिव समाज कल्याण हिमांशु कुमार ने मामले की जांच कर एक दिन के अंदर रिपोर्ट देने और मेस संचालक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने का आदेश दिया।

वहीं, लोकबंधु में भर्ती छात्रओं को चिकित्सकों की निगरानी में रखा गया है। एक छात्र रेखा की हालत गंभीर होने पर उसे किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) रेफर किया गया है।

जांच रिपोर्ट में प्रधानाचार्य और कुछ शिक्षकों की भूमिका मिली संदिग्ध : उप निदेशक समाज कल्याण श्रीनिवास द्विवेदी ने छात्रओं और विद्यालय की जांच कर अपनी रिपोर्ट निदेशक समाज कल्याण को सौंप दी है। प्रधानाचार्य और कुछ शिक्षकों की भूमिका संदिग्ध पाई गई है। छात्रओं ने शनिवार को घटिया खाने के विरोध में प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन करने के लिए छात्रएं कालेज से निकलकर बुद्धेश्वर चौराहे तक पहुंच गई थीं।

शनिवार को फूड प्वाइजनिंग से 17 छात्रएं बीमार थीं। रविवार को विद्यालय की कक्षा सात की छात्र सेजल की भी तबीयत बिगड़ गई और उसे सरोजनीनगर के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। पारा थाने में मेस संचालक कंपनी के मैनेजर फहीम के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई। वर्तमान में विद्यालय में 291 छात्रएं हैं।

खाद्य विभाग ने लिए सैंपल :राजकीय आश्रम पद्धति बालिका इंटर कालेज में खाद्य एवं औषधि विभाग के डीओ एसपी सिंह ने खाने का नमूना लिया और जय प्रकाश नारायण सवरेदय विद्यालय में चल रही मेस का निरीक्षण भी किया। राजकीय आश्रम पद्धति बालिका विद्यालय व जय प्रकाश नारायण सवरेदय विद्यालय के छात्र-छात्रओं का खाना बनाने के लिए विभाग ने पटना की कृष्णा इंटरप्राइजेज को जिम्मेदारी दी है। प्रधानाचार्य वंदना ने बताया कि खाने की गुणवत्ता ठीक न होने की कई बार शिकायत की गई, लेकिन उच्च अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया। संचालक के विरुद्ध पहले भी कारण बताओ नोटिस जारी हुआ था।

छात्रओं की मांग पर गणित और फिजिक्स के शिक्षकों की तैनाती : समाज कल्याण विभाग ने छात्रओं की मांग पर विद्यालय में गणित और भौतिक विज्ञान के शिक्षकों की तैनाती कर दी है। साथ ही मेस का संचालन की रही संस्था का करार निरस्त करने के लिए जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश को पत्र भेजा है। छात्रओं ने महिला गार्ड पर अभद्रता का आरोप लगाया था, जिसे हटाने के लिए संबंधित विभाग को पत्र भेज दिया गया है।

फूड प्वाइजनिंग के बाद राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय में ही रविवार को बनाया गया भोजन, इसके लिए तैयारी करते कारीगर तथा (दाएं) विद्यालय में पहुंची एंबुलेंस ’ जागरण

फर्म के खिलाफ मुकदमा, कैटरर की भूमिका भी संदिग्ध

एडीसीपी दक्षिणी राजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि राजकीय आश्रम पद्धति बालिका विद्यालय की ¨प्रसिपल वंदना त्रिवेदी की तहरीर पर बालिकाओं को खराब खाना परोसने के मामले में कृष्णा इंटरप्राइजेज फर्म के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। फर्म अभिषेक अग्रवाल की है। वहीं, कैटरर फहीम की भूमिका भी संदिग्ध है। वह भी जांच के घेरे में है। जांच में जो भी नाम तथ्यों के आधार पर आएंगे, उनके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

विद्यालय में भोजन की आपूर्ति करने वाली फर्म को हटाते हुए उसके खिलाफ एफआइआर के निर्देश दिए गए हैं। भोजन आपूर्ति के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। 27 नवंबर की शाम भोजन की गुणवत्ता जांचने वाले कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही के लिए कहा गया है। संस्था की प्रधानाध्यापक से स्पष्टीकरण मांगा गया है।

-अभिषेक प्रकाश, जिलाधिकारी

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇