बेसिक में 10 शिक्षक मिले फर्जी, वेतन रोककर जांच के निर्देश, यह शिक्षक मिले फर्जी

फर्रुखाबाद, स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआइटी) को मानव संपदा पोर्टल पर जांच के दौरान जिले को 10 शिक्षक फर्जी मिले हैं। सूची आने के बाद जिला बेसिक शिक्षाधिकारी (बीएसए) ने फर्जी अध्यापकों का वेतन रोककर खंड शिक्षाधिकारियों को जांच कर एक सप्ताह में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।


एसआइटी ने पोर्टल पर जिले के 10 शिक्षक फर्जी मिलने पर बीएसए को पत्र भेजकर इनके शैक्षिक अभिलेखों व अन्य पत्रावली की जांच कर आख्या मांगी है। पत्र मिलने के बाद बीएसए ने फर्जी शिक्षकों का वेतन रोकते हुए खंड शिक्षाधिकारी राजेपुर, मोहम्मदाबाद, नवाबगंज व खंड शिक्षाधिकारी शमसाबाद को निर्देश दिए कि वह इनके शैक्षिक अभिलेखों व अन्य पत्रावलियों की गहनता से जांच करें। एक सप्ताह में जांच आख्या हर हाल में उन्हें उपलब्ध कराएं। बीएसए लालजी यादव ने बताया कि एसआइटी ने 10 फर्जी शिक्षकों की सूची भेजी है। खंड शिक्षाधिकारियों को पत्र भेजकर इनके शैक्षिक अभिलेखों की जांच करने के निर्देश दिए हैं। जांच पूरी होने तक इन शिक्षकों का वेतन रोक दिया गया है। उन्होंने बताया कि जो सूची आई है, उसमें कुछ शिक्षकों के नाम दो बार हैं, लेकिन मानव संपदा पर कोड अलग-अलग दर्ज हैं।


यह शिक्षक मिले फर्जी: अशोक कुमार, राजेश कुमार, अशोक ङ्क्षसह, रामनरेश, राजेश, रामनरेश, रजनीश कुमार, मोहित यादव, मोहित ङ्क्षसह व रजनीश। 

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇