टीईटी पेपर लीक मामला: रिमांड पर आए आरोपी, एसटीएफ ने शुरू की पूछताछ, खुल सकते हैं कई बड़े राज


मेरठ : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) पेपर लीक करने के प्रकरण में रिमांड पर आए तीनों आरोपियों से पुलिस और एसटीएफ की टीम ने पूछताछ की। पुलिस और टीम पूछताछ कर केस से संबंधित साक्ष्य जुटाने में लगी है।


बता दें कि 28 नवंबर को यूपी टीईटी परीक्षा के दिन सुबह एसटीएफ मेरठ ने शामली क्षेत्र में दबिश देकर तीन आरोपियों रवि पंवार निवासी गांव नाला, मनीष उर्फ मोनू निवासी झाल और धर्मेंद्र निवासी बुटराड़ी को गिरफ्तार कर लिया था। आरोपियों के कब्जे से टीईटी का मूल प्रश्नपत्र, कई फोटो कॉपी, 17 हजार रुपये और कार बरामद की थी। एसटीएफ के इंस्पेक्टर की तरफ से शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया था। एसटीएफ ने बाद में एक अन्य आरोपी गौरव निवासी अलीगढ़ को भी गिरफ्तार कर लिया था।

पुलिस के आवेदन पर कैराना कोर्ट से तीनों आरोपी रवि पंवार, मनीष और धर्मेंद्र का पांच दिन का पुलिस कस्टडी रिमांड स्वीकृत हुआ था। मंगलवार को पुलिस ने तीनों आरोपियों को जिला कारागर से लाकर पूछताछ की। आरोपियों का रिमांड स्वीकृत होने की जानकारी मिलने पर एसटीएफ मेरठ की टीम भी शामली पहुंची। वहीं बुधवार को एसटीएफ और शामली पुलिस ने तीनों आरोपियों से पूछताछ कर केस से जुड़े साक्ष्य संकलित किए। 

बताया गया है कि आरोपियों से पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर पुलिस व एसटीएफ टीम कई स्थानों पर दबिश दे रही है। एसपी सुकीर्ति माधव ने बताया कि कस्टडी रिमांड पर लाए गए तीनों आरोपियों से एसटीएफ द्वारा पूछताछ की जा रही है।


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇