बड़ी कार्यवाही: आधार सत्यापन में लापरवाही, 256 स्कूलों के शिक्षकों का वेतन रोका

 

13 ब्लॉकों के कई स्कूलों में आधे से अधिक छात्रों का नहीं हुआ है आधार सत्यापन 
सिद्धार्थनगर। परीषदीय स्कूलों के बच्चों के आधार कार्ड के सत्यापन में लापरवाही बरती गई है। इस कारण बच्चों के अभिभावकों के खाते में ड्रेस, बैग आदि की धनराशि नहीं भेजी जा सकी है। इससे नाराज बीएसए ने 13 [बनकों के 256 परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों एवं कर्मियों का वेतन रोक दिया गया है।
बीएसए देवेंद्र कुमार पांडेय ने बताया कि जल्द ही बच्चों के आधार का सत्यापन नहीं हुआ तो इन लोगों के खिलाफ कठोर कारवाई की जाएगी। शिक्षक संगठन का कहना है कि एक हजार से अधिक शिक्षकों का वेतन रोका गया है।
परीषदीय विद्यालय के बच्चों के इस बैग, जूता व मोजा आदि खरीदने के लिए उनके अभिभावकों के खाते में धनराशि भेजी जाती है। बैंक खाते से संबद्ध स्कूली बच्चों के आधार का सत्यापन प्रक्रिया चल रहा है। इसमें स्कूलों के अध्यापकों की तरफ से बच्चों के आधार सत्यापन में लापरवाही की जा रही है।


जिससे इन स्कूलों के बच्चों को स्कूल ड्रेस, बंग आदि खरीदने की धनराशि उनके खाते में नहीं भेजी जा सकी है। इनमें कई विद्यालय ऐसे है  जहां के आधे से अधिक छात्रों के आधार कार्ड सत्यापित नहीं हो पाए हैं।  नीगढ़ ब्लॉक के कंपोजिट स्कूल बसडिलिया में 274 छात्रों में 165 छात्रों का आधार कार्ड का सत्यापन नहीं हो पाया है। इसी तरह कंपोजिट स्कूल करीती के 280 छात्रों में 216 छात्रों का आधार कार्ड का सत्यापन नही हुआ है।
इसी तरह से इटवा भनवापुर, खुनियांव आदि ब्लॉकों के कई स्कूलों के अधिकांश बच्चों के आधार कार्ड का सत्यापन नहीं हो सका है। इससे नाराज बीएसए ने इन स्कूलों के सभी शैक्षिक कर्मियों के वेतन रोक दिए हैं।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇