पीआरडी के जिम्मे होगी कस्तूरबा स्कूलों की सुरक्षा


रायबरेली जिले में संचालित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका स्कूलों की सुरक्षा अब तक रामभरोसे संचालित रही है। सुरक्षा गार्ड की व्यवस्था न होने के कारण खतरा बना हुआ है चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को दिन में काम के बाद रात में स्कूलों की सुरक्षा करनी पड़ रही है। निदेशालय की मंशा पर अब पीआरडीए जवानों पर कस्तूरबा स्कूलों को सुरक्षा की जिम्मेदारी देने की तैयारी है। सभी स्कूलों में दो-दो पीआरडी जवानों की तैनाती के लिए संबंधित विभाग को बौएसए ने पत्र लिखा है। जल्द ही पीआरडी जवान मिलने के बाद सुरक्षा व्यवस्था मजबूत हो जाएगी। 





जिले में 16 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका स्कूल संचालित हैं। स्कूलों में शिक्षिकाओं व अन्य स्टाफ की कमी के साथ ही सुरक्षा की बड़ी समस्या है। रात में स्कूलों में सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड अब तक तैनात नहीं हो पाए हैं। चतुर्थ श्रेणी  कर्मचारियों के भरोसे ही स्कूलों की सुरक्षा है। ऐसे में किसी भी अप्रिय घटना का खतरा बना हुआ है। बेसिक शिक्षा विभाग अब कस्तूरबा स्कूलों की सुरक्षा को लेकर गंभीर हुआ है। निदेशालय से पत्र आने के बाद बीएसए ने 32 पीआरडी जवान मांगे है सभी कस्तूरबा स्कूलों में दो-दो  पीआरडी जवान रखे जाएंगे।




इस संबंध में बीएसए ने जिला युवा कल्याण एवं प्रांतीय रक्षक दल अधिकारी को पत्र भेजकर पीआरडी जवानों की डिमांड भी की है। बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सभी कस्तुरबा गांधी आवासीय बालिका स्कूलों की सुरक्षा के लिए दो दो पीआरडी जवान तैनात किए जाएंगे। इसके लिए संबंधित विभाग को पत्र भेजकर 32 पीआर डीजवान मांगे गए हैं। जिला युवा कल्याण एवं प्रांतीय रक्षक दल अधिकारी एएल रमन ने बताया कि बेसिक शिक्षा अधिकारी का पत्र मिला है। जल्द ही नियमानुसार विभाग को 32 पीआरडी जवान उपलब्ध कराए जाएंगे। स्कूलों में काम करने वाले जवानों को संबंधित विभाग भुगतान करेगा।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇