कक्षा नौ की छात्रा ने दी जान, स्कूल के रास्ते में छींटाकशी की चर्चा, प्रधानाचार्य और कक्षाध्यापक से होगी पूछताछ



 स्कूल के रास्ते में छींटाकशी की चर्चा, प्रधानाचार्य और कक्षाध्यापक से होगी पूछताछ 
बांदा। स्कूल से घर लौटने के बाद पंचायत मित्र की बहन व कक्षा नौ कक्षा की छात्रा ने पेड़ से फंदा लगाकर जान दे दी। चर्चा है कि स्कूल आते-जाते समय रास्ते में कुछ शोहदे आए दिन छात्रा पर छींटाकशी करते थे। इसी से आजिज होकर उसने जान दी है। पुलिस कारणों की जांच में जुटी है। इस मामले में स्कूल के प्रधानाचार्य और कक्षाध्यापक से भी पूछताछ होगी।





बिसंडा थाना क्षेत्र के इटवां गांव निवासी सुदामा प्रसाद की बेटी मंगीरिया (18) शुक्रवार को सुबह करीब चार किलोमीटर दूर परहटा गांव स्थित स्कूल पढ़ने गई थी। दोपहर को पर लौटी और बस्ता रखकर बिना किसी से बताए निकल है। कुछ देर बाद ग्रामीणों ने परिजनों को बताया कि मंगीरिया का शव चिल्ला के पेड़ में दुपट्टे के फंदे से लटक रहा है।

घरवाले मौके पर पहुंच कुछ ही देर में पुलिस भी आ गई। जांच के बाद राव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटनास्थल



पर से करीब आधा किलोमीटर दूर है। गांव में चर्चा है कि छात्रा के साइकिल से स्कूल आते और जाते समय रास्ते में कुछ शोहदे अक्सर छींटाकशी करते थे। इसी से परेशान होकर उसने आत्महत्या की है।

छात्रा के भाई पंचायत मित्र घनश्याम पाल ने बताया कि कोई दिक्कत नहीं थी। स्कूल की फीस भी बकाया नहीं थी। मंगीरिया ने भी घर में किसी से कोई समस्या नहीं बताई। स्कूल प्रतिदिन साइकिल से आती जाती थी। वह छह बहनों और दो भाइयों में सबसे छोटी श्री बिसंडा थानाध्यक्ष का कहना है कि हर बिंदु पर जांच की जा रही है। परिजनों के अलावा स्कूल स्टाफ से भी जानकारी की जाएगी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇