महिला शिक्षिका के आने से स्कूलों का बड़ा नामांकन


रामलुभाई कॉलेज में महिला शिक्षक न होने के कारण पिछले कुछ वर्षों से लगातार नामांकन का ग्राफ गिरता जा रहा था। छात्राएं महिला शिक्षक नियुक्त करने की लगातार मांग उठा रही हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही थी। अब छात्राओं के लिए अच्छी खबर है।


सोमवार को कॉलेज पहुंची आरएचईओ डॉ. संध्या रानी ने बताया कि कॉलेज में जल्द ही प्राचार्य डॉ. वसुधा कार्यभार ग्रहण कर लेंगी। इसके अलावा चार महिला शिक्षकों की नियुक्ति भी हो गई है।

कुछ ने ज्वाइन भी कर लिया है। कॉलेज में शत-प्रतिशत प्रवेश के लिए डॉ. नरेंद्र कुमार बतरा और डॉ. पूर्णिमा भारद्वाज, असिस्टेंट प्रोफेसर राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बीसलपुर को नोडल अधिकारी नामित किया। उन्होंने कॉलेज परिसर का निरीक्षण भी किया। कक्षाओं और लैब की स्थिति देखी।

उन्होंने बताया कि 11 से 17 अगस्त तक ‘आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जाएगा। इसके तहत कॉलेज और आसपास तिरंगा कराया जाएगा। कई प्रतियोगिताएं कराई जाएंगी। बैठक में कार्यवाहक प्राचार्य फजलुर्रहमान और उपाधि कॉलेज के प्राचार्य डॉ. दुष्यंत कुमार, डॉ. अंबा प्रसाद, डॉ. अतुल कुमार मलिक, डॉ. बरखा आदि मौजूद रहे।

महिला शिक्षकों के आने से बढ़ेगा छात्राओं का नामांकनक्षेत्र उच्च शिक्षा अधिकारी ने राम लुभाई साहनी कॉलेज में शिक्षकों के साथ की बैठकपीलीभीत। महिला शिक्षक न होने के कारण राम लुभाई साहनी महिला महाविद्यालय में छात्राओं का नामांकन कम हो पा रहा था। अब इसका ग्राफ बढ़ने की उम्मीद है। कॉलेज में महिला प्राचार्य और चार महिला शिक्षकों की नियुक्ति हुई है।

सोमवार को क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी (आरएचईओ) डॉ. संध्या रानी कॉलेज पहुंची और शिक्षकों के साथ नामांकन बढ़ाने को लेकर बैठक की।


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇