आर्थिक आरक्षण में आयु सीमा में छूट के लिए अड़े प्रतियोगी

प्रयागराज : आर्थिक रूप से कमजोर अभ्यर्थियों को भर्तियों में 10 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था है। केंद्र व प्रदेश सरकार के समस्त भर्ती संस्थानों में यह आरक्षण लागू है, लेकिन प्रतियोगी इससे संतुष्ट नहीं हैं। वे आरक्षण में आयु सीमा में छूट देने की मांग पर अड़े हैं। हरियाणा, राजस्थान और उत्तराखंड की तर्ज पर आयु सीमा में पांच साल की छूट की मांग दोहराई है। मंगलवार को आजाद पार्क में प्रतियोगियों ने आम सभा का आयोजन किया। 





वक्ताओं ने स्पष्ट किया है कि बिना आयु सीमा में छूट मिले आरक्षण का कोई औचित्य नहीं है। प्रतियोगियों ने कहा कि आयु सीमा में छूट दिए बिना आर्थिक रूप से कमजोर को 10 प्रतिशत आरक्षण देना छलावा है। प्रतियोगी मोहित पाठक का ने कहा कि जब दूसरे प्रदेशों की सरकारें आयु सीमा में छूट दे रही हैं तो यूपी में आनाकानी क्यों? अभी आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को आरक्षण के नाम पर ठगा जा रहा है। 



आरक्षण को प्रभावी बनाने के लिए उसमें कम से कम पांच साल की आयु सीमा में छूट दी जाए। प्रतियोगी प्रकाश शर्मा ने कहा कि आयु सीमा में छूट से प्रतियोगियों को वंचित रखना अन्यायपूर्ण है। प्रतियोगी इसे स्वीकार नहीं करेंगे।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇