UPTET 2021: टीईटी के केंद्रों का होगा पुन: परीक्षण, शासनादेश जारी


शासन ने उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2021 के आगामी आयोजन के लिए पूर्व निर्धारित परीक्षा केंद्रों का फिर से परीक्षण कराने के निर्देश दिए हैं। Primary ka master and uptet primary ka master.

प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा दीपक कुमार ने इस संबंध में शनिवार को देर रात शासनादेश जारी किया। इसमें प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों से कहा गया है कि पूर्व निर्धारित परीक्षा केंद्रों का परीक्षण करा लिया जाए। यदि परीक्षा केंद्र में परिवर्तन की स्थिति पाई जाती है तो संशोधित परीक्षा केंद्रों की सूची उनकी धारण क्षमता सहित निर्धारित समयावधि के अंदर सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी प्रयागराज के कार्यालय को भेज दी जाए।



इसका ध्यान रखा जाए कि निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर न्यूनतम 500 अभ्यर्थी व अधिक धारक क्षमता वाले विद्यालयों या महाविद्यालयों को ही परीक्षा केंद्र बनाया जाए। जिले में कम से कम परीक्षा केंद्रों का निर्धारण किया जाए और उनका अधिक प्रभावी ढंग से पर्यवेक्षण किया जाए। शासनादेश में कहा गया है कि परीक्षा का आगामी आयोजन नकलविहीन, शुचितापूर्वक व सफलतापूर्वक कराना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में है। इसके लिए परीक्षा केंद्रों का शुचितापूर्ण होना अत्यंत आवश्यक है। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित जनपदीय समिति द्वारा जिला स्तर पर परीक्षा केंद्रों के निर्धारण एवं परीक्षा को सुचारू एवं शुचितापूर्वक आयोजित कराने के लिए उत्तरदाई बनाया गया है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇