113 स्कूलों को नहीं कंपोजिट ग्रांट, विभाग ने बताया बैंकों का विलय होना है कारण

 

आजमगढ़। छात्र संख्या के आधार पर मिलने वाली कंपोजिट ग्रांट से संबंधित विद्यालयों में रंग-रोगन और सफाई का कार्य कराया जाता है लेकिन लालगंज विकास खंड के 113 विद्यालयों को कंपोजिट ग्रांट नहीं मिली है। बेसिक शिक्षा विभाग ने इसका कारण बैंकों का विलय होना बताया है।

सरकार की ओर से विद्यालयों की देखभाल के लिए हर विद्यालय को कपोजिट ग्रांट उपलब्ध कराई जाती है। जिन विद्यालयों से 100 से कम बच्चे होते हैं उन विद्यालयों को 25000 रुपये मिलते हैं। 00 से 300 की संख्या वाले विद्यालयों में 50000 रुपये कंपोजिट ग्राट दी जाती है। जिन विद्यालयों की छात्र संख्या 300 से अधिक होती है उन विद्यालयों को 75000 रुपये दिए जाते हैं। लेकिन जिस विद्यालय में 1000 से अधिक बच्चे हैं उन विद्यालयों को एक लाख रुपये तक कंपोजिट ग्रांट उपलब्ध


कराई जाती है। जनपद के सारे विद्यालयों को कंपोजिट ग्रांट भेज दी गई लेकिन लालगंज विकास खंड के 113 विद्यालय ऐसे हैं जिनको अभी तक कंपोजिट ग्रांट उपलब्ध नहीं कराई जा सकी है। जबकि विद्यालयों का नया सत्र 2022-23 एक अप्रैल से शुरू होने वाला है।

ग्रांट का कार्य देख रहे लेकि शिक्षा विभाग में तैनात ोई अनिल सिंह ने बताया कि सभी विद्यालयों को कंपोजिट बाट दिसंबर में ही भेज दी गई थी। बैंकों के विलय के कारण बहुत से विद्यालयों की ग्रांट से वापस हो गई। जिसे अब तक भेजा नहीं जा सका है। अब सभी को कंपोजिट ग्रांट की धनराशि दोबारा भेजी जा रही है। 

अब तक संबंधित विद्यालयों को 2021-22 की कंपोजिट क्यों नहीं मिली। इसके बारे में जानकारी नहीं है। इसके बारे में पता कर आवश्यक कार्रवाई की आएगी अतुल कुमार, बीएसए

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇