विधानसभा चुनाव की तर्ज पर होगी जिले में बोर्ड परीक्षा

पडरौना,।


विधानसभा चुनाव की तर्ज पर आगामी 24 मार्च से जिले में आयोजित बोर्ड परीक्षा को जोन व सेक्टर में बांटकर कराई जायेगी। सभी छह तहसीलों को जोन बनाकर संबंधित एसडीएम को जोनल मजिस्ट्रेट बनाया गया है। इसके जिले के 172 परीक्षा केंद्रों को 17 सेक्टर में बांटा गया है। इन सेक्टरों में एक-एक जिला स्तरीय अधिकारी को सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किया गया है, जो प्रतिदिन परीक्षा केंद्रों की निगरानी करेंगे।


माध्यमिक शिक्षा परिषद से जिले में 19 राजकीय, 55 एडेड समेत 327 विद्यालय संचालित हैं। इन स्कूलों में आगामी 24 मार्च से शुरू हुई परीक्षा 19 दिन में समाप्त होगी। हाईस्कूल व इंटरमीडिएट में कुल 1.06 लाख बच्चे पंजीकृत हैं। इन छात्र-छात्राओं की परीक्षा जिले के 172 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित होगी। पिछले तीन मार्च को जिले में आयोजित विधानसभा चुनाव की तर्ज पर बोर्ड परीक्षा का आयोजन किया जायेगा। परीक्षा केंद्रों को छह जोन में बांटा गया है। कसया, हाटा, कप्तानगंज, तमकुही, खड्डा व पडरौना तहसील को जोन बनाकर संबंधित एसडीएम को जोनल मजिस्ट्रेट बनाया गया है। इसके अलावा पूरे परीक्षा केंद्र को 17 सेक्टर में बांटा गया है। एक सेक्टर में 10 से 12 परीक्षा केंद्रों को जोड़ा गया है। जिला स्तरीय अधिकारियों को सेक्टर मजिस्ट्रेट बनाया गया है। इसके अलावा परीक्षा केंद्रों की निगरानी के लिए स्ट्रेटिक मजिस्ट्रेट, बाह्य शिक्षक व केंद्राध्यक्षों की तैनात की गई है। बोर्ड परीक्षा के दौरान किसी भी प्रकार की गड़बड़ी होने पर केंद्राध्यक्ष के साथ मजिस्ट्रेट तक को जिम्मेदार बनाया गया है।

संवेदनशील और अतिसंवेदनशील केंद्रों पर तैनात होंगे स्ट्रेटिक मजिस्ट्रेट


-स्ट्रेटिक मजिस्ट्रेट की निगरानी में होगी केंद्रों पर बोर्ड परीक्षा

बोर्ड परीक्षा को सुचितापूर्ण संपन्न कराने के लिए जिले के 172 परीक्षा केंद्रों में पांच केंद्रों को अतिसंवेदनशील तथा 9 केंद्रों को संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। इनमें बिहार बार्डर से जुड़े सर्वाधिक केंद्रों को शामिल किया गया है।

जिले में 172 परीक्षा केंद्रों पर आगामी 24 मार्च से शुरू हुई बोर्ड परीक्षा 12 अप्रैल तक चलेगी। बोर्ड परीक्षा के दौरान नकलविहीन व सुचिता पूर्ण परीक्षा संपन्न कराने के लिए परीक्षा केंद्रों अतिसंवेदनशील, संवेदनशील व सामान्य श्रेणी में बांटा गया है। सभी परीक्षा केंद्रों पर केंद्राध्यक्ष के साथ बाह्य शिक्षक व स्ट्रेटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। इसके अलावा अतिसंवेदनशील व संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर मजिस्ट्रेटों के साथ सचल दल की टीम सर्वाधिक निगरानी करेंगी। ज्यादातर बिहार बार्डर के परीक्षा केंद्रों को अतिसंवेदनशील व संवेदनशील की सूची में शामिल किया गया है।



जिले को जोन व सेक्टर में बांटकर बोर्ड परीक्षा आयोजित की जायेगी। अतिसंवेदनशील व संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर विशेष नजर रखी जायेगी।

मनमोहन शर्मा, डीआईओएस

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇