कहीं फोटोकॉपी तो कहीं पेपर पर सवाल लिखकर दी परीक्षा

Varanasi: जिले के परिषदीय विद्यालयों की वार्षिक परीक्षा में दूसरे दिन भी अव्यवस्था का बोलबाला रहा। विद्यालयों में न तो सीट प्लान का ध्यान रखा गया है और न ही नकल रोकने के लिए कोई कदम उठाया गया। वहीं, कई स्कूलों में बच्चों की संख्या के अनुसार प्रश्नपत्र ही नहीं पहुंचे, शिक्षकों ने प्रश्नपत्राें की फोटो कॉपी कराकर बच्चों में वितरित किया। कई स्कूलों में तो शिक्षकों ने सादे पन्ने पर प्रश्न लिखकर बच्चों की परीक्षा कराई। अव्यवस्थाओं की हाल यह रहा कि प्रश्नपत्र में जो पाठ्यक्रम पिछले साल बंद हो चुके हैं, उससे भी प्रश्न पूछे गए। इससे शिक्षकों के साथ बच्चे भी परेशान रहे। ईएमपीएस केराकतपुर में बच्चों को शिक्षकों ने सादे पेपर पर प्रश्न लिखकर परीक्षा दिलवाई। प्रश्न पत्रों की कमी के साथ कई पत्रों में गलत छपाई से भी बच्चे परेशान रहे। शासन के निर्देश पर बच्चों की 50 अंक की परीक्षा कराई जानी है। वहीं, प्रश्न पत्रों में पूर्णांक 70 अंक लिखा हुआ था।


पुराने पाठ्यक्रम से पूछा गया प्रश्न
चौबेपुर। प्राथमिक विद्यालय के कक्षा पांच के हिंदी प्रश्न पत्र में अब्राहम लिंकन का जन्म कहां हुआ था, ये प्रश्न आते ही परीक्षार्थियों के साथ साथ अध्यापक भी परेशान रहे। शिक्षकों का कहना था कि अब्राहम लिंकन से जुड़ा पाठ पुराने पाठ्यक्रम में था, अब इसे हटा दिया गया है। पाठ्यक्रम के बाहर का प्रश्न पूछे जाने पर बेसिक शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली पर सवालिया खड़े हो रहे हैं। इसी तरह कक्षा चार के हिंदी पेपर में प्रश्न था कि मीरा भगवान श्रीकृष्ण के किस रूप का वर्णन करती हैं। ये विषय कक्षा चार में है ही नहीं। लगातार मिल रही खामियों से स्पष्ट है कि विभाग द्वारा अधूरी तैयारी के बीच परीक्षा कराई जा रही है। 

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇